नई दिल्ली (टेक डेस्क)। दक्षिण कोरियाई स्मार्टफोन निर्माता कंपनी सैमसंग ने मोबाइल बेचने के मामले में एक बार फिर से भारत में पहला स्थान ग्रहण किया है। 2017 के आखिरी तिमाही में चीनी स्मार्टफोन कंपनी शाओमी पहले स्थान पर काबिज थी। रिसर्च फर्म काउंटर प्वाइंट के रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल-जून 2018 के तिमाही में सैमसंग का भारत में 29 प्रतिशत का मार्केट शेयर है। जबकि अक्टूबर-दिसंबर 2017 के तिमाही में सैंमसंग दूसरे स्थान पर काबिज थी। इस क्वार्टर में चीनी कंपनी शाओमी ने सैमसंग को पछाड़कर पहला स्थान हासिल किया था।

J सीरीज की वजह से मिला फायदा

काउंटरप्वाइंट के रिसर्च एनालिस्ट कर्ण चौहान के मुताबिक, सैमसंग की इस सफलता के पीछे हाल ही में लॉन्च हुए J सीरीज का हाथ है। आपको बता दें कि सैमसंग ने J सीरीज के तहत पिछले महीने कई स्मार्टफोन्स लॉन्च किए थे। ये सभी स्मार्टफोन बजट रेंज में हैं, जिसकी वजह से ये यूजर्स के बीच में पसंद किए जा रहे हैं। इसके साथ ही सैमसंग की ऑफलाइन मार्केट में अच्छी पकड़ है और कंपनी की अग्रेसिव मार्केटिंग स्ट्रेटजी भी इसमें सहायक बनी है।

चीनी कंपनियों ने बढ़ाई शिपमेंट

शाओमी ने इस साल के दूसरे तिमाही में भारत में अपनी शिपमेंट बढ़ा दी है। इसके अलावा अन्य चीनी स्मार्टफोन कंपनियां वीवो, ओप्पो, हॉनर ने भी अपनी शिपमेंट क्रमश: 12 प्रतिशत, 10 प्रतिशत और 3 प्रतिशत तक बढ़ा दी है। इसके अलावा प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में वनप्लस ने भी भारत में अपनी शिपमेंट बढ़ा दी है। वहीं, एप्पल ने अपनी शिपमेंट में कमी की है। माना जा रहा है कि कंपनी ने अपनी स्ट्रेटजी में बदलाव किया है। काउंटरप्वाइंट के मुताबिक एप्पल की घरेलू एसेंबलिंग यूनिट ने अभी रफ्तार नहीं पकड़ी है। कंपनी का पिछले क्वार्टर में मार्केट शेयर केवल 1 प्रतिशत है। हाल के वर्षों में एप्पल का इससे कम मार्केट शेयर नहीं रहा है।

स्मार्टफोन का बढ़ता बाजार

देश का ओवरऑल स्मार्टफोन मार्केट साल-दर-सार दोगुना होते जा रहा है। देश के कुल हैंडसेट मार्केट में स्मार्टफोन का अब आधा योगदान है। काउंटरप्वाइंट के रिसर्च एनालिस्ट अंशिका जैन के मुताबिक, भारत का स्मार्टफोन बाजार अब हर तिमाही में डबल डिजीट के हिसाब से ग्रोथ कर रहा है। बाजार में यह ग्रोथ स्मार्टफोन कंपनियों के भारतीय बाजार में नये स्मार्टफोन लॉन्च करने से लेकर इसके ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रमोशन की वजह से संभव हो पाया है।

फीचर फोन बाजार में भी देखी गई वृद्धि

इसके अलावा देश में फीचर फोन के बाजार में साल दर साल ग्रोथ देखी जा रही है। पिछले साल फीचर फोन बाजार में 21 प्रतिशत की ग्रोथ देखी गई है, जिसमें रिलायंस जियो की 47 प्रतिशत हिस्सेदारी थी जबकि सैमसंग की 9 प्रतिशत, नोकिया की 8 प्रतिशत, आईटेल की 6 प्रतिशत और लावा की 5 प्रतिशत हिस्सेदारी रही है।

यह भी पढ़ें:

आसुस 'बैक टू कॉलेज' ऑफर में सस्ते में खरीदें लैपटॉप, पेटीएम भी स्टूडेंट्स को दे रहा है डिस्काउंट

Gmail के इस नए फीचर से साइबर अटैक का खतरा, आप भी फंस सकते हैं जाल में

मिनटों में रिकवर करें फोन से डिलीट हुआ फोटो, बस करना होगा यह काम

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस