नई दिल्ली (टेक डेस्क)। भारतीय रेलवे के टिकट बुकिंग प्लेटफॉर्म IRCTC के अलावा यात्री अगर किसी भी थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से रेलवे टिकट बुक करते हैं तो उनके लिए मंहगा पड़ सकता है। यात्री अगर IRCTC के आधिकारिक ऐप या वेबसाइट के अलावा कहीं और से रेलवे टिकट बुक करते हैं तो उन्हें अतिरिक्त चार्ज देना होगा।

टिकट बुक करने पर देना होगा ज्यादा किराया

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अगर यात्री अपना रेलवे टिकट पेटीएम, मोबिक्विक, मेकमायट्रिप, यात्रा और क्लियरट्रिप जैसी थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से बुक करते हैं तो उन्हें ज्यादा चार्ज देना होगा। इन थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से टिकट बुक करने पर यात्री को रिजर्वेशन टिकट के वास्तविक किराए से 12 रुपये ज्यादा खर्च करने पड़ेंगे। इसके अलावा मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करके टिकट बुक करने पर भी 12 रुपये ज्यादा खर्च करना होगा।

इस वजह से देना होगा ज्यादा चार्ज

थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट से IRCTC वार्षिक रख-रखाव शुल्क वसूल करती है। इसके अलावा IRCTC, 5 रुपये डिस्प्ले विज्ञापनों के लिए और 15 रुपये कैशबैक आदि का शुल्क भी इन कंपनियों से वसूल करेगी। इसके अलावा अगर इन ऐप या वेबसाइट पर किसी अन्य कंपनी का कोई भी उत्पाद बेचा जाता है तो उससे 25 रुपये प्रति टिकट के हिसाब से वसूला जाएगा। यही कारण है कि ये थर्ड पार्टी ऐप या वेबसाइट इन शुल्कों को यात्री के टिकट में जोड़ कर वसूल करेंगी। जिसकी वजह से इन ऐप्स या वेबसाइट्स से रेलवे टिकट बुक करना यात्रियों के लिए मंहगा हो सकता है।

टिकट कैंसल और रिफंड के नियमों में भी हुआ बदलाव

IRCTC ने कुछ दिन पहले ही ऑनलाइन या काउंटर टिकट कैंसल करने के नियमों में भी बदलाव किया था। नए नियमों के मुताबिक यात्री अब काउंटर से खरीदा हुआ टिकट भी ऑनलाइन कैंसल कर सकते हैं। इस नए नियम के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें:

iPhone यूजर्स के लिए बुरी खबर, 6 महीने में भारत में बैन हो सकते हैं एप्पल के फोन

जियो को चुनौती देने के लिए आइडिया ने लॉन्च किया लंबी वैलिडिटी वाला प्लान

सैमसंग लाएगा दुनिया का पहला फोल्डेबल स्मार्टफोन, कीमत कर देगी हैरान

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस