नई दिल्ली (टेक डेस्क)। 5G नेटवर्क को लेकर कई दावे किए जा रहे हैं। कई स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां अपने 5G सपोर्ट हैंडसेट इस वर्ष होने वाले मोबाइल वर्ल्ड कोंग्रस (MWC) 2019 में लॉन्च करने की तैयारियों में जुटी हुई हैं। इनमें Samsung और Huawei जैसी कंपनियां शामिल हैं। आपको बता दें कि यह इवेंट 24 फरवरी को बार्सिलोना में आयोजित किया जाएगा। 5G नेटवर्क वाले स्मार्टफोन को लेकर कई तकनीकी कंपनियों के बीच काफी कड़ा मुकाबला जारी है। लेकन इस उत्सुकता के बीच शोधकर्ताओं ने एक परेशानी जाहिर की है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, 5G नेटवर्क के आने से हैकर्स, यूजर्स के डाटा को आसानी से हैक कर सकते हैं।

टेक्निकल यूनिवर्सिटी ऑफ बर्लिन (स्विट्जरलैंड) ETH ज्यूरिख और नॉरवे के सिनटेफ डिजिटल द्वारा एक रिसर्च जारी की गई है। इस रिसर्च में बताया गया है कि 5G नेटवर्क पर यूजर्स की प्राइवेसी चिंता का विषय है। रिसर्चर्स ने बताया कि 5G नेटवर्क पर फोन को सुरक्षित रखने का जो तरीका है उसके बाद सेल्यूलर नेटवर्क से फोन कनेक्ट नहीं हो सकता है।

रिसर्च में बताया गया कि हैकर्स स्मार्टफोन में यूजर्स के डाटा को 5G एयरवेव्स के जरिए आसानी से हैक कर पाएंगे। यही नहीं, यूजर के स्मार्टफोन से कई जरुरी और निजी जानकारी को भी हैकर्स द्वारा एक्सेस किया जा सकेगा। शोधकर्ताओं ने इस सुरक्षा परीक्षण को मौजूदा 4G नेटवर्क पर किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि 5G नेटवर्क आ जाने के बाद से हैकिंग के मामले काफी अधिक बढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

Whatsapp को Face या Touch ID से कर पाएंगे लॉक, नया फीचर हुआ रोलआउट

Samsung Galaxy S10 सीरीज के लॉन्च से पहले Galaxy S9+ की कीमत में हुई भारी कटौती

क्या आपके स्मार्टफोन पर भी हैं ये Beauty Camera ऐप्स, चोरी हो सकती आपकी निजी

 

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप