नई दिल्ली (टेक डेस्क)। भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) अन्य टेलिकॉम कंपनियों से पहले देश में 5G सेवा लॉन्च कर सकती है। बीएसएनएल ने इसके लिए जापान की दो कंपनियों सॉफ्टबैंक और एनटीटी कम्युनिकेशंस के साथ करार किया है। इस मौके पर बीएसएनएस के प्रबंध निदेशन अनुपम श्रीवास्त्व ने कहा, 'हमने भारत में 5G सेवाओं की शुरुआत और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) के संबंध में सॉफ्टबैंक और एनटीटी कम्युनिकेशंस के साथ करार किया है। इस समझौते के तहत हम समाधान स्मार्ट शहरों के लिए तलाशेंगे।'

अनुपम श्रीवास्त्व ने आगे कहा कि BSNL के अधिकतर प्रतिद्वंदी (अन्य टेलिकॉम कंपनियां) अब भी अपनी 4G सेवाओं के जरिए ही रुपये कमाना चाह रहे हैं, इसलिए अग्रणी कंपनियां 5G की शुरुआत के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी की ओर देख रही हैं। श्रीवास्तव ने कहा, 'हमें दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा की ओर से की गई पहल का लाभ हुआ है। उन्होंने 5G के लिए वैश्विक स्तर पर कई बैठकें की है। हमने उन अवसरों को भुनाते हुए अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी के लिए करार किया है।'

वहीं दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि भारत भी अन्य देशों के साथ ही 5G सेवा की शुरुआत करेगा। अन्य देशों के मुकाबले भारत में 4G सेवा की शुरुआत में 4 साल की देरी हुई थी, जबकि, 3G सेवा की शुरुआत में भी 7 साल की देरी हुई है। लेकिन, भारत में 5G सेवा की शुरुआत में देरी नहीं होगी। भारत में 5G सेवाओं की शुरुआत आईटीयू द्वारा मानक तय किए जाने के साथ ही 2020 में होगी।

उन्होंने आगे कहा कि सरकारी टेलिकॉम कंपनी बीएसएनएल इस बात पर गौर कर रहा है कि देश में किन क्षेत्रों में 5G का इस्तेमाल किया जा सकता है। सॉफ्टबैंक के साथ हुए करार के तहत बीएसएनएल जापानी कंपनी के उपग्रहों का इस्तेमाल तेज गति की इंटरनेट सेवाओं को पहुंचाने के लिए करेगा। बीएसएनएल ने 5G तंत्र विकसित करने के लिए नोकिया और सिस्को जैसी तकनीकी कंपनियों के साथ भी करार किया है। 

यह भी पढ़ें:

5G नेटवर्क पर मिलेगा 20GB प्रति सेकंड की स्पीड से इंटरनेट, इन चार बड़े सवालों का पाएं जवाब

WhatsApp हैक होने पर क्या करें, इस तरह बचाएं इसे हैकर्स से

ये हैं सबसे पावरफुल बैटरी वाले 6 स्मार्टफोन्स, 2 दिनों तक बिना रुके चलते हैं फोन

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप