नई दिल्ली (टेक डेस्क)। BSNL की इंटरनेट टेलीफोनी सेवा Wings आज से शुरू हो रही है। बीते 11 जुलाई को इस सेवा को लॉन्च किया गया। लॉन्च होने के बाद से अब तक करीब 4,000 से ज्यादा बुकिंग आ चुकी है। इस सेवा के तहत यूजर्स बिना सिम के भी देशभर में अनलिमिटेड कॉल्स कर सकेंगे। इसके लिए यूजर्स को अपने स्मार्टफोन में एक ऐप इंस्टॉल करना होगा और इस ऐप के जरिए यूजर्स कहीं भी कॉल्स कर सकेंगे। आइए जानते हैं इस सेवा के बारे में, किस तरह यूजर्स इस सेवा का लाभ उठा सकेंगे।

क्या है BSNL Wings?

BSNL Wings एक इंटरनेट टेलीफोनी सेवा है, जिसकी मदद से आप बिना सिम कार्ड के भी इंटरनेट की मदद से कॉल कर सकेंगे। इस सेवा को आप मोबाइल ऐप के जरिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए पब्लिक वाई-फाई का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इंटरनेट टेलीफोनी में इंटरनेट प्रोटोकॉल की मदद से कॉल की जाती है जिसे वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (VoIP) टेक्नोलॉजी कहा जाता है।

4,000 से ज्यादा हो चुकी है बुकिंग

इस सेवा के लॉन्च पर भारत संचार निगम लिमिटेड के चेयरमैन अनुपम श्रीवास्तवा ने कहा, बीएसएनएल देश की पहली टेलिकॉम कंपनी है इंटरनेट टेलीफोनी की शुरुआत कर रही है। हम उम्मीद कर रहे हैं इस सेवा शुरू होने के बाद युवा हमसे जुड़ेंगे और वो इंटरनेट डाटा के जरिए वॉयस कॉल कर सकेंगे। इतना ही नहीं इस सेवा का लाभ विदेश जाने वाले लोगों को भी होगा। अनुपम श्रीवास्तवा ने आगे कहा कि अभी तक इस सेवा के लिए 4,000 यूजर्स ने बुकिंग करा ली हैं।

गूगल डुओ और वॉट्सऐप को मिलेगी चुनौती

सरकार ने हाल ही में निर्देश दिया कि देश में टेलिकॉम लाइसेंस होल्टर कंपनियां ही फुल फ्लेज्ड इंटरनेट टेलीफोनी की सेवा शुरू कर सकती है न कि वॉट्सऐप, गूगल डूओ जैसी कंपनियां। ये कंपनियां भी ऐप बेस्ड वीडियो या वॉयस कॉलिंग सेवा प्रदान करती है, जिसपर सरकार जल्द शिकंजा कसने वाली है। इससे साफ है कि देश के जिन क्षेत्रों में अच्छी इंटरनेट सेवा मौजूद हैं वहां के लोग विंग्स सेवा का भरपूर लाभ उठा सकते हैं।

BSNL Wings के बारे में 10 जरूरी बातें जानने के लिए यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें:

आसुस 'बैक टू कॉलेज' ऑफर में सस्ते में खरीदें लैपटॉप, पेटीएम भी स्टूडेंट्स को दे रहा है डिस्काउंट

Gmail के इस नए फीचर से साइबर अटैक का खतरा, आप भी फंस सकते हैं जाल में

मिनटों में रिकवर करें फोन से डिलीट हुआ फोटो, बस करना होगा यह काम

Posted By: Harshit Harsh