नई दिल्ली (टेक डेस्क)। जैसे-जैसे हम डिजिटलाइजेशन की तरफ बढ़ रहे हैं, साइबर क्राइम का खतरा दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। सरकरी एजेंसियां इन साइबर क्राइम्स पर लगाम लगाने के लिए रोज नए-नए तरीके निकाल रही हैं। लेकिन इन साइबर क्राइम्स को अंजाम देने वाले हैकर्स भी सरकारी एजेंसियों के इन तरीकों से पार पा जाते हैं और लोगों के अकाउंट्स में सेंध लगाने में कामयाब हो रहे हैं। सरकारी एजेंसियों के साथ ही आपको भी कुछ सावधानी बरतने की जरूरत है, तभी आप इन साइबर क्राइम्स से बच सकते हैं।

इनकम टैक्स रिटर्नस में लगा रहे हैं सेंध

साइबर क्राइम का जो ताजा मामला सामने आया है वह बेहद चौंकाने वाला है। हैकर्स अब आपके इनकम टैक्स रिटर्नस के पैसे में सेंध लगा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इन दिनों साइबर क्राइम रैकेट इनकम टैक्स रिटर्नस में धांधली करने के लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नाम से फर्जी एसएमएस भेज कर लोगों के अकाउंट में सेंध लगा रहे हैं। एक महीने पहले इस तरह का एक मामला दर्ज किया गया है, जिसमें लोगों को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का फर्जी एसएमएस मिल रहा है।

इस मैसेज में लोगों को यह बताया जा रहा है कि आपका इनकम टैक्स रिफंड गलत बैंक अकाउंट में ट्रांसफर हो गया है। इसे वेरिफाई करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करें। जैसे ही आप इस मैसेज के बहकावे में आकर लिंक पर क्लिक करेंगे आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के वेबसाइट से मिलता-जुलता वेब पेज दिखाई देगा जो कि फर्जी है। इसके बाद आपके डिटेल्स का गलत इस्तेमाल करके हैकर आपके आई-टी फंड्स को ट्रांसफर कर लेते हैं।

इस तरह बच सकते हैं आप

इस स्कैम से बचने के लिए आपको सावधानी बरतने की जरूरत है। आपकी एक सावधानी से लाखों के नुकसान से बचा जा सकता है। आप सबसे पहले मैसेज को ध्यान से पढें। आमूमन हैकर्स द्वारा भेजे गए मैसेज में कई तरह की खामियां हो सकती हैं। इन मैसेज में स्पेलिंग मिस्टेक्स से लेकर ग्रामैटिकल गलतियां भी होती हैं। इसके अलावा भेजा गया लिंक भी क्लीयर नहीं होगा। इसमें भी कई तरह के जम्बल्ड वर्ड्स (उल्टे-सीधे वर्ड्स) या अल्फाबेट्स हो सकते हैं।

इसके साथ ही कभी भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपसे आपकी निजी जानकारी को मैसेज के जरिए नहीं मांगती हैं, इस बात का ध्यान रखें। इनकम टैक्स फाइल करते समय भी आप अपनी जानकारियां सही तरीके से भरें और सबमिट करने से पहले सारी जानकारियां अच्छी तरह से चेक कर लें। इन सावधानियों के जरिए आप इन हैकरों से बच सकते हैं। 

यह भी पढ़ें:

Honor 7C और सैमसंग गैलेक्सी J7 Prime की कीमत में हुई कटौती, जानें फीचर्स

JioPhone Vs Xiaomi Qin1s: इन दोनों 4G फीचर फोन में कौन है बेहतर, पढ़ें कम्पैरिजन

फेसबुक और इंस्टाग्राम पर आप कितना समय बिताते हैं, अब लगा सकते हैं पता

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस