नई दिल्ली(टेक डेस्क)। यूट्यूब ने हाल ही में बताया है की कंपनी ने लगभग 5 मिलियन वीडियोज को डिलीट किया है। ये वीडियोज 2017 की आखिरी तिमाही में ही अपलोड की गई थी। गूगल द्वारा अधिकृत वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म ने इन वीडियोज को व्यूवर्स के देखने से पहले ही डिलीट कर दिया था। यह कंपनी ने इस कारण भी किया होगा क्योंकि उसे विभिन्न सरकारों से अनुचित कंटेंट पोस्ट करने के लिए लम्बे समय से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

कोई भी व्यू आने से पहले ही डिलीट की गई वीडियोज: यूट्यूब ने एक रिपोर्ट में बताया की 80 लाख में से 76 प्रतिशत वीडियोज को 1 व्यू आने से भी पहले डिलीट कर दिया गया है। इन वीडियोज को इसलिए तत्काल प्रभाव से डिलीट करने का कदम उठाया गया क्योंकि इसमें अनुचित या हिंसक कंटेंट शामिल था।

यूट्यूब गाइडलाइन्स का हुआ उल्लंघन: यूट्यूब पर कुल मिलाकर लगभग 93 लाख वीडियोज ऐसी हैं जो यूट्यूब कम्युनिटी गाइडलाइन्स का उलंघ्घन कर रही हैं। इनमे से अधिकतर वीडियोज भारत में है। इस क्रम में अमेरिका दूसरे और यूके छठें नंबर पर है।

वीडियोज की हो रही लगातार जांच: यूट्यूब ने बताया की लगातार वीडियोज की जांच की जा रही है और नियमों का उलंघ्घन करने वाली वीडियोज को रिमूव किया जा रहा है।

क्यों डिलीट करनी पड़ी वीडियोज: यूट्यूब को 300 कंपनियों और संगठनों ने आपत्तिजनक कंटेंट के साथ उनके एड्स दिखने को लेकर शिकायत की थी। इनमें एडिडास, अमेजन और नेटफ्लिक्स आदि शामिल हैं। इसी को ठीक करने के लिए यूट्यूब ने वीडियोज को रिमूव किया।

यह भी पढ़ें: 

फ्लिपकार्ट ग्रैंड गैजेट सेल: स्मार्टफोन्स और लैपटॉप्स पर मिल रहा है 70% का डिस्काउंट

शाओमी मी 6X स्नैपड्रैगन 660 के साथ लॉन्च, पढ़ें नोकिया 7 प्लस से कम्पैरिजन

IPL 2018: जियो यूजर्स को दे रहा है फ्री 112GB डाटा, एयरटेल भी दौड़ में शामिल

व्हाट्सएप में हुए बड़े बदलाव, 16 साल तक के बच्चे नहीं बना पाएंगे अकाउंट

अमेजन इको स्पॉट भारत में 10499 रुपये के Introductory प्राइज पर लॉन्च, गूगल होम से टक्कर

Posted By: Sakshi Pandya

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस