नई दिल्ली (टेक डेस्क)। सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने राष्ट्रीय महिला आयोग से साथ मिलकर एक डिजिटल लिटरेसी कार्यक्रम की शुरुआत करेगी। इस क्रायक्रम के तहत फेसबुक और महिला आयोग मिलकर देश की 60 हजार महिलाओं को सुरक्षित इंटरनेट इस्तेमाल करना सीखाएगा। इसके लिए फेसबुक देशभर के पढ़ाई कर रहे महिलाओं को इंटरनेट के साथ-साथ सोशल मीडिया के सुरक्षित इस्तेमाल के बारे में शिक्षित करेगा। इसके लिए साइबर पीस फाउंडेशन के साथ एक पायलट प्रोग्राम लॉन्च किया जाएगा, जो महिलाओं को सही और गलत जानकारियों को पहचानना सीखाएगा। ये ट्रेनिंग भारतीय भाषाओं में दी जाएगी।

साइबर क्राइम के कई मामले आए सामने

राष्ट्रीय महिला आयोग की कार्यकारी अध्यक्ष रेखा शर्मा ने बताया कि पिछले तीन वर्षों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले साइबर क्राइम के कई मामले सामने आए हैं। यह एक चिंता का विषय है। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि महिलाएं सुरक्षित इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकें। हम फेसबुक और साइबर पीस फाउंडेशन के इस प्रशंसनीय कदम की सराबना करते हैं। महिलाएं और लड़कियों को इस ट्रेनिंग प्रोग्राम का लाभ मिलेगा।

साइबर पीस फाउंडेशन रांची (झारखंड) स्तिथ एक सिविस सोसाइटी ऑर्गेनाइजेशन है जो साइबर सुरक्षा के लिए लोगों को प्रशिक्षित करता है। इस डिजिटल लिटरेसी कार्यक्रम के तहत हरियाणा के मुख्य शहरों, दिल्ली-एनसीआर, मणिपुर, सिक्किम, मेघालय, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के विश्वविद्यालयों में पढ़ रही महिलाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा।

भारत और दक्षिण एशिया में फेसबुक की पब्लिक पॉलिसी निदेशक अंखी दास ने कहा, किसी भी देश की अर्थव्यवस्था महिलाओं के बराबर सहयोग से ही बढ़ सकती है। आज के दौर में महिलाएं भी स्वतंत्र रूप से इंटरेनट का इस्तेमाल कर सके हमारी यही कोशिश है। महिलाएं ऑनलाइन इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए स्वतंत्र रूप से अपनी भावनाओं को प्रकट कर सके, यही हमारा मुख्य उदेश्य है।

यह भी पढें :

लॉन्च हुआ डुअल रियर कैमरा वाला स्मार्टफोन Meizu 6T, ओप्पो के इस फोन से होगी टक्कर

नोकिया यूजर्स के लिए खुशखबरी, अब तक लॉन्च हुए सभी स्मार्टफोन पर मिलेगा एंड्रॉइड P अपडेट

एक्टिव मोबाइल यूजर्स की संख्या 100 करोड़ के करीब, मार्च में जुड़े 1.6 करोड़ उपभोक्ता

Posted By: Sakshi Pandya

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप