नई दिल्ली (टेक डेस्क)। दक्षिण कोरियाई इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी एलजी ने दुनिया का पहला 8K OLED टीवी लॉन्च कर दिया है। इस टीवी को जर्मनी के बर्लिन शहर में आयोजित IFA 2018 में पेश किया गया। दुनिया के सबसे बड़े टेक इवेंट में से एक CES 2018 में भी एलजी ने इस 8K TV को यूजर्स के सामने पेश किया था। 8K TV विजुअल एक्सपीरियंस की दुनिया के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा। कहना गलत नहीं होगा कि इस पर किसी भी वीडियो को देखने के बाद आपको दुनिया की कोई भी स्क्रीन पसंद नहीं आएगी। लेकिन जितनी इस टीवी की खासियत है उतनी ही इसकी चुनौती।

8K OLED टीवी में क्या है खास?

अभी तक सैमसंग, सोनी और एलजी ने 4K टीवी बाजार में उतारे हैं। इस 4K टीवी में आपको 3,840×2,160 पिक्सल का रिजोल्यूशन मिलता है। जबकि, 8K टीवी में आपको 7,680×4,320 पिक्सल का स्क्रीन रिजोल्यूशन मिलता है। पिक्सल को आसान भाषा में समझें, तो जिस टीवी में या फिर फोटो में जितने ज्यादा पिक्सल होते हैं उसकी डेप्थ क्वालिटी उतनी ही अच्छी होती है। 8K टीवी में 4K के मुकाबले आपको दोगुना पिक्सल मिलता है। लेकिन 8K सिर्फ पिक्सल क्वालिटी तक ही सीमित नहीं है। इसमें आपको रियल एक्सपीरियंस के साथ बेहतरीन कलर क्वालिटी मिलती है।

कीमत

4K टीवी की कीमत LED के मुकाबले कहीं ज्यादा है, ऐसे में 8K क्वालिटी वाली टीवी की भारी कीमत इसे दुनियाभर के 80 फीसदी यूजर्स से अलग कर देती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो इस 8K टीवी का चलन 2022 तक दुनियाभर के अधिकतर देशों में शुरू हो जाएगा। फिलहाल इस टीवी के सामने कई तरह की चुनौतियां हैं।

यह भी पढ़ें:

लैपटॉप खरीदने से पहले इन 5 बातों का रखें ध्यान, बाद में नहीं पड़ेगा पछताना

वोडाफोन के इस नए प्लान में अब मिलेगा 235GB डाटा, जियो और एयरटेल को मिली चुनौती

Jio GigaFiber को चुनौती देगा BSNL का ब्रॉडबैंड प्लान, मिलेगा 5 गुना ज्यादा डाटा 

Posted By: Harshit Harsh