नई दिल्ली (टेक डेस्क)। अगर आपको ऐसा लगता है कि WhatsApp ने आपको फेक न्यूज को रिपोर्ट करने के लिए कोई हेल्पलाइन नंबर दिया है और वो इसे लेकर चुनावों के दौरान किसी तरह की कार्रवाई करेंगे तो आप बड़ी गलतफहमी में हैं। मीडिया स्किल स्टार्ट-अप कंपनी Proto के मुताबिक, उसने WhatsApp से अपनी Checkpoint Tipline पहल के लिए साझेदारी की है। यह सर्विस कोई हेल्पलाइन नहीं बल्कि एक रिसर्च प्रोजेक्ट है।

Checkpoint Tipline मुख्य तौर पर रिसर्च करने के लिए डाटा इक्ट्ठा करने का एक जरिया है। यह कोई हेल्पलाइन नहीं है जो हर यूजर के सवाल या किसी आवेदन का जवाब दे। यह Proto की वेसबाइट पर दिए गए FAQ में लिखा है। भारतीय यूजर्स Checkpoint Tipline के WhatsApp नंबर +91-9643-000-888 पर मैसेज कर किसी अफवाह या फेक न्यूज की जानकारी सबमिट कर सकते हैं।

फेक न्यूज की तुरंत नहीं होगी वेरिफिकेशन:

Tipline को 2 अप्रैल को पेश किया गया था। WhatsApp ने कहा था कि भारतीय यूजर्स इसके जरिए किसी भी मैसेज को शेयर कर पाएंगे जिससे Proto उसकी विश्वसनीयता को जांच सके। कंपनी की तरफ से की गई यह पहल यूजर्स को चुनावों के दौरान किसी भी जानकारी को वेरिफाई करने की अनुमति देगी। हालांकि, यह भी बता दें कि यूजर्स द्वारा सबमिट किए गए किसी भी मैसेज की वेरिफिकेशन डिटेल तुरंत नहीं दी जाएगी। उसमें कुछ समय लग सकता है। वेरिफिकेशन सेंटर में रिक्वेस्ट के आधार पर उसे प्राथमिकता दी जाएगी। वहीं, देखा जाए तो यह प्रोजेक्ट उस समय कारगर साबित नहीं होगा जब किसी फेक न्यूज को तुरंत रिमूव करना हो।

Tech Videos देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल HiTech को Subscribe करें

WhatsApp Tipline फीचर की डिटेल्स:

भारतीय Whatsapp यूजर्स किसी अफवाह या किसी ऐसे जानकारी के बारे में सवाल पूछ पाएंगे जो उनके अनुसार सही न लग रहे हों। यह सवाल Whatsapp पर चेकप्वाइंट टिपलाइन पर पूछे जा सकेंगे। इसी के साथ यूजर्स को यह भी पता चल सकेगा की जो मैसेज उन्हें मिला है उसमे भटकाने वाली कोई जानकारी है या नहीं। Whatsapp यूजर्स अपने सवालों को -- +91-9643-000-888 - पर पूछ सकेंगे। यह चेकप्वाइंट टिपलाइन का Whatsapp अकाउंट नंबर है। टिपलाइन को भारत में आधारित मीडिया स्किलिंग स्टार्टअप PROTO द्वारा लॉन्च किया गया था।

यह भी पढ़ें:

Whatsapp पर अब आप तय करेंगे की बनना है किस ग्रुप का हिस्सा, आया नया फीचर

मद्रास HC ने TikTok बैन करने की दी सलाह, कहा- बच्चों की मानसिकता कर रहा है बर्बाद

Inbox by Google के बंद होने के बाद लॉन्च हुई Spark Email ऐप, जानें फीचर्स 

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप