नई दिल्ली (टेक डेस्क)। कभी किसी ऐप से लोगों की मौत होते सुनी है? Whatsapp पिछले कुछ समय से भारत में लोगों की मौत का कारण बन चुका है। यही कारण है की Whatsapp के सामने फेक न्यूज को भारत में रोकना मुश्किल हो गया है। इसी के चलते ऐप में Forwarded फीचर को लेकर आया गया। आप सभी को पता होगा की सिर्फ Whatsapp पर फैली अफवाहों के चलते बेंगलुरु में एक शख्स की जान चली गई। ऐसा तब हुआ जब लोगों ने उसे बच्चा चोर समझ बांध कर, पीट-पीटकर मार डाला।

भीड़ ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि Whatsapp पर एक मैसेज फैला था की इलाके में बच्चा चुराने वाला गैंग घूम रहा है। इसी कारण जब यह शख्स बच्चों को मिठाइयां बांट रहा था तो लोगों ने इसे बच्चा चोर समझ के मार डाला। यह एकमात्र घटना नहीं है। इसके बाद ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं।

इसके लिए सिर्फ ऐप जिम्मेदार नहीं है। यह हमारी आदत है बन गई है की Whatsapp पर कोई भी मैसेज आए तो तुरंत उसे फॉरवर्ड कर दें या बिना पूरी जानकारी लिए उसे सही मान ले। इसी तरह 2017 में पश्चिम बंगाल में दंगों के दौरान एक महिला के साथ छेड़छाड़ की तस्वीर वायरल हो गई। लेकिन वो सच नहीं था। उसके पीछे का सच यह था की वो एक भोजपुरी पिक्चर का सन था। अब आपके मन में प्रश्न उठने शुरू हुए होंगे। पहला प्रश्न यही होगा की आखिर इस तरह के फेक मैसेजेज को पहचाना कैसे जाए?

- सबसे पहला कदम जो आप उठा सकते हैं वो यह है की अपनी विचारधारा से मिलता-जुलता मैसेज मिलने पर उसे सही ना मान लें। उदाहरण के तौर पर अगर आप किसी एक पार्टी को पसंद करते हैं और उसके पक्ष में कोई ऐसा मैसेज आए जो विपक्षी पार्टी के किसी सदस्य के बारे में कुछ बता रहा है तो उस पर तुरंत यकीन ना कर लें। किसी भी मैसेज को सच मैंने से पहले कम से कम उसकी पूरी तरह से पड़ताल कर लें।

- हालांकि, Whatsapp Forwarded फीचर लेकर आया है। फिर भी लोग अपने परिवार या दोस्तों के forwarded मैसेज को सच मान लेते हैं। ऐसा नहीं है की उन्हें भी किसी मैसेज की सच्चाई पता हो। फेक न्यूज के जाल में तो आपके करीबी भी फंस सकते हैं। इसलिए मैसेज किसी भी स्त्रोत से आ रहा हो उसे सही ना मान ले।

- Whatsapp पर आने वाली फेक न्यूज से बचने का एक बड़ा तरीका है की हर ऐसे खबर या मैसेज जो वायरल होने लायक हो या भड़काने वाला हो या उसके पीछे कोई एजेंडा हो तो ऐसे हर मैसेज पर शक करें।

- अगर किसी मैसेज पर शक हो तो खबर की पड़ताल करें। अगर आप सही खबर तक ना पहुंच पाएं तो कम से कम उसे शेयर करने से बचें। इस तरह आप फेक न्यूज को फैलने से तो रोक ही पाएंगे।

इस तरह ना सिर्फ आप खुद को इस तरह के फेक मैसेज का शिकार होने से बचा सके हैं बल्कि दूसरों की भी इस मामले में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

BSNL प्रीपेड उपभोक्ता अब फ्री में देख पाएंगे Eros Now पर उपलब्ध कंटेंट, जानें कैसे

Samsung TV से लेकर गेमिंग लैपटॉप्स तक CES 2019 में हुए बड़े Launches, पढ़ें यहां

Vodafone Idea प्रीपेड न्यू ईयर ऑफर, नंबर रिचार्ज कर पाएं फ्री Amazon Pay वाउचर

 

Posted By: Sakshi Pandya

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप