Move to Jagran APP

Pathankot Firing: पठानकोट में दिनदहाड़े गोलीबारी से मचा हड़कंप, दो गुटों ने एक-दूसरे पर की अंधाधुंध फायरिंग; क्या थी वजह?

पठानकोट (Pathankot Firing) के शहीद भगत सिंह चौक पर बुधवार शाम को दो गुट आपस में भिड़ गए। मामला इस हद तक बढ़ गया कि बात गोलीबारी तक पहुंच गई। इलाके में गोलीबारी होने के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। साथ ही पुलिस (Pathankot Police) आरोपियों की तलाश के लिए इलाके में दबिश दे रही है।

By Purshotam Sharma Edited By: Deepak Saxena Wed, 10 Jul 2024 08:00 PM (IST)
पुरानी रंजिश को लेकर दो गुटों में हुई फायरिंग।

संवाद सहयोगी, पठानकोट। शहीद भगत सिंह चौक पठानकोट में बुधवार शाम को दो गुटों के बीच आपसी झगड़ा हो गया, जिस कारण एक गुट की ओर से दूसरे गुट पर गोलियां चला दी गई। हालांकि इस मामले में किसी के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना नहीं है। हमलावरों की ओर से गोलियां चलाने के बाद घटनास्थल से फरार हो गए।

पुलिस ने मौके पर तीन खोल भी बरामद किये हैं। झगड़े का कारण पुरानी रंजिश बताया जा रहा है। हमले की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंचे थाना डिवीजन नम्बर-2 के प्रभारी शौहरत मान ने बताया कि पुलिस की ओर से इस मामले की तफ्तीश की जा रही है। हमलावरों को काबू करने के लिए पुलिस रेड़ कर रही है। जल्द ही आरोपित जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

ये भी पढ़ें: Archana Makwana: पुलिस के सामने ऑनलाइन पेश हुईं Yoga Girl अर्चना मकवाना, 15 मिनट तक हुई पूछताछ

गोलीबारी में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं

डीएसपी सिटी सुमेर सिंह मान ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी जिसके बाद तत्काल थाना डिवीजन नम्बर-2 के प्रभारी शौहरत मान व अन्य पुलिस पार्टी घटना स्थल पर पहुंच गई थी। इसके बाद जांच के दौरान पता चला है कि दो गुटों के आपसी झगड़े में ही एक गुट की ओर से गोलियां चलाई गई है जिसमें फिलहाल कोई हताहत नहीं हुआ है।

गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रहीं टीमें

फिलहाल गोलियां किन-किन लोगों की ओर से चलाई गई है, पुलिस इस बात की जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि गोलियां चलाने वाले गुट में करीब सात से आठ युवक थे जिन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीमें दबिश दे रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस की ओर से जल्द ही आरोपितों को काबू कर लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: Farmers Protest: शंभू बॉर्डर खोलने के HC के फैसले पर 'आप' ने की सराहना, किसानों की मांगों का किया समर्थन