संवाद सूत्र, मानसा। Punjab News: पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या को बेशक 5 महीने के करीब हो चुके हैं लेकिन उनके चाहने वाले प्रशांसक आज भी सदमे में है। गायक के गांव मूसा में तो गुरुघर में अनाउसमेंट करवा कर किसी भी गांववासी को दीवाली न मनाने की अपील की गई है। इसके अलावा जिले के अन्य कई गांवों में भी मूसेवाला की हत्या के विराेध में काली दीवाली मनाने का ऐलान किया गया है।

मूसेवाला के स्मारक पर कल कीर्तन करेंगे लाेग

गांव मूसा वासी कुलदीप सिंह व सुखपाल सिंह ने कहा कि वह गांव में कोई दीपमाला नहीं करेगा व सोमवार को दिवाली के दिन सिद्धू मूसेवाला के स्मारक पर दोपहर दो से पांच बजे तक विरागमई कीर्तन किया जाएगा। जिसमें सभी गांव वासी काली पट्टी बांध कर शामिल होगें व इंसाफ की मांग की जाएगी। उन्होंने सिद्धू मूसेवाला के प्रशांसकों से अपील करते कहा कि वह कोई पटाखा न चलाएं ओर न ही दीपमाला करें। बल्कि सिद्धू मूसेवाला की याद में एक दीया जला कर सरकार के खिलाफ रोष प्रगट करते हुए इंसाफ की मांग करें।

सिद्धू के फैंस भी काली दिवाली मनाएंगे

गांववासियों ने कहा कि आसपास के गांवों के लोगों द्वारा भी दिवाली न मनाने के लिए सहयोग किया जा रहा है। सिद्धू मूसेवाला के गांव के अलावा विदेशों में रहने वाले सिद्धू के फैंस भी काली दिवाली मनाएंगे। पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला 29 मई को गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसकी जिम्मेदारी भी गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई ग्रुप ने ली थी। लेकिन हत्याकांड में अब तक आरोपितों को सजा नहीं मिली, जिस कारण गांव के लोगाें में गुस्सा पनप रहा है। जबकि मानसा के गांव जवाहरके, बुर्ज ढिलवां, जोगा, रामदित्तेवाला, खोखर, सदा सिंह वाला, गेहले, गगोवाल में भी लोग दिवाली का त्योहार नहीं मनाएंगे।

यह भी पढ़ें-Diwali 2022: लुधियाना में दिवाली पर 24 घंटे हाेगी बिजली सप्लाई, ब्रेक डाउन से निपटने के लिए विशेष तैयारी

यह भी पढ़ें-Punjab Diwali Celebration: लुधियाना में दिवाली से पहले बाजार हुए गुलजार, दीये और कैंडल्स से जगमगाया शहर

Edited By: Vipin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट