जागरण संवाददाता, जगराओं (लुधियाना)। Punjab Farmers Protest: ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब नानकसर में रविवार काे बाबा लक्खा सिंह से मुलाकात करने आए पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला का किसान जत्थेबंदियाें ने कड़ा नाेटिस लिया है। सांपला यहां संतों का आशीर्वाद लेने आए थे। भारतीय किसान यूनियन (डकौंदा) ने जगजीत कलेर व रामशरण सिंह रसूलुपर की अगुआई में जबरदस्त रोष प्रदर्शन कर भाजपा नेताओं को गुरुद्वारे के पिछले दरवाजे से भागने के लिए मजबूर कर दिया। भारतीय किसान यूनियन एकता डकौंदा के इलाके भर से वर्कर नानकसर में बाबा लक्खा सिंह की ओर से विजय सांपला से मुलाकात करने की खबराें के मददेनजर मुख्य सड़क पर रोष प्रकट करने के लिए इकट्ठे हुए।

हालांकि किसान आंदोलन के चलते संतों ने सांपला को मिलने से इंकार कर दिया। काफी मशक्त के बाद जब सांपला बाबा लक्खा सिंह से मिले तो संत बाबा लक्खा सिंह ने यह कह दिया कि यहां आना आपका तभी सफल जब केंद्र सरकार खेती कानूनों का रद कर किसानी संघर्ष को समाप्त करे। किसानाें ने नानकसर में पूर्णिमा पर संगतों की भारी गिनती में रोष धरना स्थगित कर मुख्य सड़क पर ही नारे लगाए।

यह भी पढ़ें-Snatching in Ludhiana: लुधियाना में बाइक स्नैचर को लोगों ने खंबे से बांधा, पिटाई के बाद पुलिस काे साैंपा

कल रेलवे स्टेशन पार्क में धरने में बनाएंगे नई रणनीति

इस मौके पर किसान नेता दर्शन सिंह गालिब ने बताया कि 21 सितंबर को 11 बजे रेलवे स्टेशन पार्क जगराओं में चल रहे धरने में भाग लेकर चर्चा कर नए संघर्ष की रूप रेखा बनाएंगे। उन्होंने जगराओं व सिधवांबेट ब्लाक की सभी इकाइयों को शामिल होने की अपील की। इस अवसर पर गुरचरण सिंह गुरुसर, जगजीत सिंह कलेर, कंवलजीत खन्ना, सुखदेव सिंह गालिब, दर्शन सिंह फौजी झोरड़ा, जरनैल सिंह पोना, कुलवंत सिंह गालिब व बलबीर सिंह अगवाड़ आदि मौजूद थे। गाैरतलब है कि पंजाब के किसान कई महीनाें से दिल्ली में कृषि सुधार कानूनाें के खिलाफ आंदाेलन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-Kidnapping In Ludhiana: रिश्ते हुए शर्मसार! लुधियाना में दामाद ने शादी का झांसा देकर नाबालिग साली काे किया अगवा

 

Edited By: Vipin Kumar