जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब के तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी फिर विवादों में फंस गए हैं। ताजा विवाद का कारण बना है  आईटीआई पटियाला में एक रिक्त पद पर पोस्टिंग का। दो लेक्चररों की पसंद यही जगह थी, जबकि पद एक ही था। मंत्री ने सिक्का उछाल कर पोस्टिंग का फैसला कर दिया। फैसला लेने के इस तरीके पर विपक्ष ने चन्नी की क्षमता पर सवाल उठाते हुए कैप्टन सरकार पर निशाना साधा है। दूसरी ओर, कांग्रेस ने चन्नी का समर्थन किया है।

पटियाला आइटीआइ में एक रिक्त पद को लेकर दो उम्मीदवार आमने-सामने हो गए। मामला पंजाब के तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के पास पहुंचा। दोनों ही मनपसंद पोस्टिंग चाहते थे। मंत्री ने पहले आपस में बात करके मामले को सुलझाने को कहा लेकिन वे फैसला नहीं ले सके। इस पर मंत्री ने सिक्का उछाल कर इस समस्या का समाधान किया। चन्नी द्वारा सिक्का उछालने का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया है।

यह भी पढ़ें: सुरेश कुमार को बड़ी राहत, चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी पद की नियुक्ति रद करने पर स्‍टे

आम आदमी पार्टी के विधायक व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल खैहरा ने चन्नी को आड़ेहाथ लेते हुए कहा कि इससे कैप्टन सरकार के मंत्रियों की फैसला लेने की क्षमता का अंदाजा लगाया जा सकता है। क्या सरकार अब सिक्का उछाल कर फैसला करेगी? ऐसा पहले कभी नहीं देखा गया। भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री तरुण चुघ ने कहा कि आज दो उम्मीदवार थे तो मंत्री ने सिक्का उछाल दिया। कल अगर चार उम्मीदवार होंगे तो क्या मंत्री शतरंज या कैरम खिलवाएंगे? मंत्री का यह तरीका निंदनीय है।

दूसरी तरफ, सामाजिक सुरक्षा मंत्री साधू सिंह धर्मसोत और कांग्रेस के अमृतसर से विधायक व पार्टी प्रवक्ता राजकुमार वेरका ने मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का समर्थन किया है। दोनों ने कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है। अगर दो उम्मीदवार थे और वह आपस में फैसला नहीं ले पा रहे थे तो मंत्री ने सिक्का उछाल कर फैसला कर दिया, इसमें गलत क्या है। विपक्ष बिना वजह इसे मुद्दा बना रहा है।

अपने तरीके को गलत नहीं मानते चन्नी

तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि 37 में से 35 लेक्चररों में से सिर्फ दो का केस पटियाला में मनपसंद पोस्टिंग को लेकर फंस गया। पटियाला में एक ही सीट खाली होने के कारण दोनों लेक्चररों को आपसी सहमति से फैसला करने को कहा लेकिन वे सहमत नहींं हुए। एक लेक्चरर की अकादमिक योग्यता ज्यादा थी जबकि दूसरे का तजुर्बा ज्यादा था। दोनों ने सुझाव दिया कि उनकी पोस्टिंग टॉस से कर दी जाए। सभी के सामने और सहमति से ऐसा किया गया। सारी पोस्टिंग पारदर्शी तरीके से की गई।

यह भी पढ़ें: महागठबंधन बनाने की तैयारी में जुटे शरद यादव को राहुल के नेतृत्व पर भरोसा

------

टोटकों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं चन्नी

तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह इससे पहले टोटकों को लेकर भी चर्चा में रह चुके हैं। कैबिनेट फेरबदल में अच्छा विभाग के चक्कर में वे हाथी पर सवार हुए थे। बताया जाता है कि ऐसा उन्होंने ज्योतिषी की सलाह पर किया था। मंत्री बनने के बाद सरकारी आवास के सामने पार्क के बीच में उन्होंने सड़क बनवा दी थी।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!