विशाल पाठक, चंडीगढ़। Stubble Burning: पंजाब और हरियाणा में लगातार पराली जलाने के मामले बढ़ते जा रहे हैं। यही कारण है कि शहर में प्रदूषण का स्तर भी बिगड़ रहा है। पीजीआइ के पर्यावरण विशेषज्ञ प्रोफेसर रविंदर खाईवाल ने बताया कि बीती रात को चंडीगढ़ के पड़ोसी राज्य पंजाब हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में जमकर पराली जलाई गई है। आंकड़ों पर अगर गौर करें तो सबसे ज्यादा पराली जलाने के मामले पंजाब से सामने आए हैं। अकेले पंजाब में बीती रात 1,111 जगहों पर, हरियाणा में 83 और यूपी में 23 जगहों पर रात 10 बजे तक पराली जलाए जाने के मामले सामने आए हैं।

चंडीगढ़ का एयर क्वालिटी इंडेक्स 139

शहर के अगर प्रदूषण स्तर की बात करें तो पड़ोसी राज्य में लगातार जल रही पराली की वजह से एयर क्वालिटी इंडेक्स 100 से ऊपर बना हुआ है। शुक्रवार सुबह चंडीगढ़ का एयर क्वालिटी इंडेक्स 139 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया। यह एयर क्वालिटी इंडेक्स सुबह 8:10 का है। जबकि पंचकूला का एयर क्वालिटी इंडेक्स चंडीगढ़ से बेहतर रहा पंचकूला में एयर क्वालिटी इंडेक्स 99 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया।

आसपास के शहरों और जिलों में यह रहा एयर क्वालिटी इंडेक्स

चंडीगढ़ से स्टेप पंजाब और हरियाणा के शहर भर जिलों में आज सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स जो दर्ज किया गया है इस प्रकार से है अंबाला में एयर क्वालिटी इंडेक्स 217 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर, पानीपत में 196, पटियाला में 169, सोनीपत में 243, करनाल में 246, जालंधर में 180 और लुधियाना मैं 228 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया। गाैरतलब है कि पंजाब में ज्यादा पराली जलने से कई शहराें में प्रदूषण का स्तर बिगड़ गया है।

यह भी पढ़ें-Punjab CLU Scam: नवजोत सिद्धू की अदालत में पेशी आज, वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये दर्ज करवाएंगे बयान

यह भी पढ़ें-Egg Price in Ludhiana: सर्दी बढ़ते ही अंडा भी दिखाने लगा तेवर; 510 रुपये प्रति सैकड़ा पहुंचे दाम

Edited By: Vipin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट