जेएनएन, चंडीगढ़। पटियाला के नाभा जेल से रविवार काे हमलावरों द्वारा पांच आतंकियों के साथ छुड़ाए गए खालिस्तान लिब्रेशन फोर्स के मुखिया हरमिंदर सिंह मिंटू को पकड़ लिया गया है। उसे दिल्ली पुलिस और पंजाब पुलिस की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार किया। बताया जाता है कि वह दिल्ली से बाहर भागने की फिराक में था। उसे सोमवार सुबह निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया। दूसरी ओर, इस मामले में एक और व्यक्ति को उत्तराखंड से गिरफ्तारकिया गया है। बताया जाता है कि वह भी जेल से फरार आतंकी है, लेकिन अभी इस बारे में पूरी जानकारी नहीं मिल पाई है।

बता दें कि रविवार सुबह पंजाब के नाभा में हाइ सिक्योरिटी जेल पर करीब 10 हथियारबंद लोगों ने हमला कर मिंटू और पांच आतंकियों को छुड़ा लिया था। इस हमलावरों से एक परमिंदर सिंह को उत्तर प्रदेश के कैराना क्षेत्र में गिरफ्तार किया गया था। बताया जाता है कि उससे पूछताछ के आधार पर ही मिंटू के बारे में जानकारी मिली।

मिंटू दिल्ली से बाहर भागने के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचा था। इसी दौरान पंजाब पुलिस और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के ज्वाइंट ऑपरेशन में उसे दबोच लिया गया। बताया जाता है कि जेल से भागने के बाद हरमिंदर मिंटू ने दिल्ली के सुभाष नगर में रहने वाले अपने रिश्तेदार को फोन किया था।

इसी फोन के आधार पर पंजाब पुलिस ने दिल्ली पुलिस को जानकारी दी जिसके बाद पंजाब पुलिस की टीम दिल्ली पहुंची और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम के साथ मिलकर हरमिंदर मिंटू को गिरफ्तार कर लिया गया। अब से थोड़ी देर में हरविंदर मिंटू को दिल्ली की कोर्ट में पेश करके ट्रांजिट रिमांड पर पंजाब पुलिस की टीम अपने साथ लेकर शाम तक पंजाब पहुंचेगी।

पढ़ें : नाभा जेल ब्रेक : मिंटू विदेश भेजने का काम करते-करते बन गया KLF का मुखिया

बता दें कि नाभा की हाई सिक्याेरिटी मेक्सिमम जेल में रविवार सुबह आठ बजे पुलिस की वर्दी में आए 8-10 हथियारबंद लोगों ने जेल पर हमला कर इन छह कैदियों को छुड़वा लिया था । उन्होंने दो पुलिसकर्मियों को घायल भी कर दिया था। हमलावर खालिस्तानी लिब्रेशन फोर्स के मुखिया हरमिंदर सिंह मिंटू, विक्की गोंडर, गुरप्रीत सिंह, नीटू दयोल, विक्रमजीत बिक्का और अमन सिंह टोडा को छुड़ा ले गए थे।

पढ़ें : पंजाब जेल ब्रेक : छह आतंकी फरार, एक हमलावर यूपी से गिरफ्तार

यूपी के शामली से पकड़ा गया अातंकियों का मददगार, कार व हथियार भी बरामद

नाभा जेल ब्रेक में पुलिस को पहली सफलता रविवार देर शाम ही हासिल हो गई थी। पुलिस ने आतंकी और गैंगस्टर को भगाने में मदद करने वाले उनके एक साथी परमिंदर सिंह को उत्तर प्रदेश के शामली से गिरफ्तार किया था। उसे पंजाब लाया जा रहा है। उससे वह फार्च्यूनर कार भी बरामद की गई जिसमें वह आतंकियों को भगाकर ले गया था। गाड़ी से हथियार भी बरामद हुए हैं।

इसके अलावा जेल से भागने में इस्तेमाल की गई वेरना कार कैथल के पास से बरामद होने की भी सूचना है।

पढ़ें : जेल ब्रेक कांड : एक भाई कारगिल में शहीद, दूसरा बन गया गैंगस्टर

आतंकियों व हमलावरों की जानकारी देने पर मिलेगा 25 लाख रुपये का इनाम

इस मामले में प्रदेशा के एडीजीपी (जेल) एमके तिवाड़ी को निलंबित और नाभा जेल के सुपरिडेंडेट व डिप्टी सुपरिडेंडेट को बर्खास्त कर दिया गया था। फरार आतंकियों को पकड़ने के लिए विशेष टार्स्कफोर्स अभियान चल रही है। दूसरी ओर, पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने फरार कैदियों और हमलावरों के जानकारी देने पर 25 लाख रुपये इनाम देने का एलान किया है।

पढ़ें : नाभा जेल ब्रेक कांड : तिवाड़ी सस्पेंड, रोहित चौधरी होंगे नए एडीजीपी जेल

हमले में जेल कर्मियों की थी मिलीभगत : डीजीपी

नाभा जेल का दौरा करने क बाद डीजीपी अरोड़ा ने कहा वारदात में जेल मुलाजिमों की मिलीभगत है। एसआइटी गठित कर दी गई है। हमलावरों में हिंदू और सिख दोनों समुदाय के लोग शालि थे। हमलावरों और फरार कैदियों के बारे में जानकारी देने वालों काे 25 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

पत्रकारों से बात करते डीजीपी सुरेश अरोड़ा।

नाभा जेल पहुंचे सुखबीर, अजीत डाेभाल को दी पूरे घटनाक्रम की जानकारी

उपमुख्यमंत्री व राज्य के गृहमंत्री सुखबीर सिंह बादल रविवार शाम में नाभा जेल पहुंचे अौर हालात का जायजा लिया। उन्होंने केंद्र सरकार के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भी पूरे मामले की जानकारी और राज्य सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी। इससे पहले जेल पर हमले के बाद पूरे पंजाब में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। हरियाणा में भी हाई अलर्ट है। नाभा सहित पूरे जिले में मुख्य मार्गों की सोमवार को भी नाकाबंदी की गई है।

एडीजीपी (जेल) सस्पेंड, जेल सुपरिडेंडेट और डिप्टी सुपरिडेंडेट बर्खास्त

राज्य सरकार ने इस घटना के बाद एडीजीपी (जेल) एमके तिवाड़ी को निलंबित कर दिया गया। नाभा जेल के सुपरिडेंडेट परमजीत संधू और डिप्टी सुपरिडेंडेट करणदीप संधू को तुरंत प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया।

तस्वीरें : नाभा जेल पर हमले से हड़कंप, सुखबीर व डीजीपी पहुंचे

जेल से भगाए गए आतंकी जेल केएलएफ चीफ हरमिंदर सिंह उर्फ मिंटू, अमनदीप सिंह, हरजिंदर सिंह उर्फ विक्की गोंडर ऊपर बाएं से। गुरप्रीत सिंह, कुलजीत सिंह उर्फ देओल व कश्मीर सिंह (नीचे बाएं से)।

पढें : बम ब्लास्ट का आरोपी कुख्यात आतंकी बलवंत सिंह गिरफ्तार

हमलावरों ने की 100 राउंड फायरिंग

बताया जाता है कि हमलावरों ने ताबड़तोड़ करीब 100 राउंड फायर किया था। जेल के सुरक्षाकर्मी और वहां तैनात पुलिसकर्मी जब तक संभल पाते हमलावरों सभी कैदियों को गाड़ी में लेकर फरार हो गए। मिंटू के साथ फरार हुए पांचों कैदी पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर बताए जाते हैं। विक्की गाेंडर जालंधर का गैंगस्टर रह चुका है। गोंडर एक गैंगस्टर सुक्खा खालौन की सरेआम हत्या के आरोप है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, 20 से अधिक थे हमलावर

दूसरी ओर, प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावरों की संख्या 20 से अधिक थे। वे पुलिस की वर्दी में थे और इसमें से कई की वर्दी पर एएसआइ का नेम प्लेट और फीती लगी थी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, इन लोगों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी और जेल में घुस गए।

पढ़ें : नाभा जेल कांड की बौखलाहट में पुलिस ने कार पर की फायरिंग, युवती की मौत


फिल्मी अंदाज में दिया घटना को अंजाम, एक का हथकड़ी लगाकर लाए थे

बताया जाता है कि पुलिस की वर्दी में आए हमलावरों में एक एएसआइ का नेम प्लेट आैर फीती लगाए हुए था। उन्होंने एक व्यक्ति को हथकड़ी लगा रखी थी, मानो वह कैदी है और वे उसे जेल में छोड़ने आए हों। एएसआइ की वर्दी वाला व्यक्ति हथकड़ी लगे व्यक्ति को लेकर एंट्री गेट पर पहुंचे तो गार्ड को पूछताछ में शक हुआ। इस पर दोनों में बहस होने नगी। तभी उसने कांस्टेबल जगमीत सिंह पर चाक़ू से हमला कर जेल में दाख़िल हो गया। पीछे से उसके साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी और जेल के अंदर घुस गए।


फोटो गैलरी : पंजाब की नाभा जेल पर हमला, देखें तस्वीरें

हाई सिक्याेरिटी जेल है नाभा जेल, कहा जाता है मेक्सिमम जेल

जेल पंजाब का हाई सिक्याेरिटी जेल माना जाता है और इसे पंजाब का सुरक्षित जेल कहा जाता है। इसी लिए इसे मेक्सिमम जेल कहा जाता है। इसमें दुर्दांत आंतकियों और गैंगस्टरों को रखा जाता है। पंजाब में आतंकवादियों को इसी जेल में रखा जाता था। अभी यहां कई दुर्दांत आतंकी बंद हैं। इनमें पंजाब कं पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के हत्यारे जगतार सिंह हवारा व बलवंत सिंह राजोआणा सहित कई आतंकी बंद हैं।

पढ़ें: पठानकोट IAF बेस पर आतंकी हमला, फिर सुनाई दी जोरदार धमाके की आवाज

इस जेल को पंजाब में सबसे अधिक सुरक्षा हाेने के बावजूद इस तरह की घटना से कई सवाल उठ गए हैं। राज्य में अन्य जेलों की सुरक्षा भी बेहद कड़ी कर दी गई है।

2014 में दिल्ली में पकड़ा गया था मिंटू

नाभा जेल से छुड़ाया गया आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू खालिस्तान लिब्ररेशन फोर्स (केएलएफ) की चीफ है। कई आतंकी वारदातों में शामिल होने के आरोपी 47 वर्षीय मिंटू को नवंबर 2014 में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था।

पंजाब पुलिस के अनुसार हरमिंदर 2010 में यूरोप में भी जा चुका है। 2013 में उसने पाकिस्तान छोड़ा था। यूरोप दौरे में उसने इटली, बेल्जियम, जर्मनी और फ्रांस की यात्रा की थी। खलिस्तान लिबरेशन फोर्स फंड जुटाने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करने में आगे रहा है।

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!