ठाणे, पीटीआई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे बृहस्पतिवार को ठाणे शहर में तेम्भी नाका में एक नवरात्रि कार्यक्रम में पहुंचीं और देवी दुर्गा की पूजा की। इससे पहले, उन्होंने पार्टी के ठाणे मुख्यालय ‘आनंद आश्रम’ का दौरा किया, और दिवंगत आनंद दीघे को श्रद्धांजलि अर्पित की, जो इस क्षेत्र के बेहद लोकप्रिय नेता रहे हैं।

रश्मि ठाकरे के साथ लोकसभा सदस्य राजन विचारे रहे मौजूद

दीघे को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का गुरु माना जाता है। संयोग से, रश्मि ठाकरे ने जिस कार्यक्रम में शिरकत की वह शिंदे के साथ जुड़ा हुआ है और शिंदे कुछ दिन पहले कलवा से देवी की मूर्ति लाने वाली शोभायात्रा में शामिल हुए थे।

रश्मि ठाकरे के नवरात्र कार्यक्रम के लिए जाने के दौरान ठाणे से लोकसभा सदस्य राजन विचारे, राज्यसभा सदस्य प्रियंका चतुर्वेदी और उद्धव ठाकरे गुट के सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे, जिनमें अधिकतर महिलाएं थीं। उन्होंने मीडिया से बात नहीं की और पूजा करने के बाद वहां से चली गईं।

Video: कौन हैं Eknath Shinde, जो कभी Auto Driver थे और अब Uddhav Thackeray के लिए चुनौती

उल्लेखनीय है कि शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना में हुए विद्रोह के कारण 29 जून को उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी सरकार गिर गई थी। इसके एक दिन बाद शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

ये भी पढ़े: Dussehra Rally: शिवसेना के दोनों गुटों ने दशहरा रैली के लिए कमर कसी, शक्ति प्रदर्शन की तैयारी

शिवसेना विवाद: शिंदे पर ठाकरे का निशाना, कहा- भगवा झंडा सिर्फ लोगों के हाथ में ही नहीं, दिल में होनी चाहिए

Edited By: Shashank Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट