गुजरात। गुजरात चुनाव के पहले चरण के मतदान आज से शुरू हो गए हैं। इस चरण में 89 सीटों पर वोटिंग हो रही है। वहीं, इससे ठीक पहले क्रिकेटर रवींद्र जड़ेजा ने शिवसेना संस्थापक बालासाहब ठाकरे का एक पुराना वीडियो साझा किया है। इसमें बाल ठाकरे ने गुजरातियों को चेताया था। ठाकरे ने इस वीडियो में कहा था कि 'नरेंद्र मोदी गया तो गुजरात गया'।

रवींद्र जडेजा ने अपनी पत्नी के लिए किया प्रचार

रवींद्र जड़ेजा की पत्नी रिवाबा गुजरात के उत्तरी जामनगर सीट से भाजपा प्रत्याशी हैं। आज मतदान शुरू होने से चंद घंटों पहले जड़ेजा ने अपनी पत्नी व भाजपा को जिताने की अपील करते हुए बाला साहब का यह पुराना वीडियो जारी किया। जड़ेजा ने ठाकरे का वीडियो जारी करने के साथ मतदाताओं से कहा है कि 'एक शेर की बात सुनो, अभी भी वक्त है, समझ जाओ गुजरातियों'। वीडियो में ठाकरे कह रहे हैं कि 'मेरा इतना ही कहना है कि नरेंद्र मोदी गया तो गुजरात गया'।

यह भी पढ़ें- इस साल कांग्रेस को 28% ज्यादा मिला चंदा, जानें BJP और अन्‍य पार्टियों का हाल

रीवाबा की नंनद और ससुर ने किया कांग्रेस के लिए प्रचार

रीवाबा उन 788 उम्मीदवारों में से एक हैं, जो 182 सीटों वाली गुजरात विधानसभा की 89 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। 2017 में बीजेपी के धर्मेंद्र सिंह जडेजा चुनाव जीते थे। इस बार उन्हें रीवाबा जडेजा के पक्ष में टिकट से वंचित कर दिया गया था। हालांकि, रीवाबा के ससुर और नंनद ने कांग्रेस उम्मीदवार के लिए प्रचार किया। उनकी भाभी नयनाबा जडेजा कांग्रेस से ताल्लुक रखती हैं।

परिवार में कोई अंतर नहीं है- रीवाबा

चुनाव से पहले, रीवाबा ने स्पष्ट किया कि परिवार में कोई अंतर नहीं है और यह केवल विचारधारा का मामला है। यह पहली बार नहीं है कि एक पार्टी के दो सदस्य दो अलग-अलग विचारधाराओं से जुड़े हैं। रीवाबा ने कहा, वह दूसरी पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में बोल रहे हैं न कि मेरे ससुर के रूप में। यह उनका निजी मामला है। मुझे जामनगर के लोगों पर विश्वास है। जामनगर ने हमें कई चीजें दी हैं। मेरे पति का जन्म यहीं हुआ था, उन्होंने अपना करियर यहीं शुरू किया था। बता दें कि रवींद्र जडेजा ने रीवाबा के लिए प्रचार किया और नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

यह भी पढ़ें- Gujarat Election: पीएम मोदी को रावण बताने पर भड़की भाजपा, कांग्रेस अध्यक्ष खरगे के बयान को बताया निंदनीय

जामनगर उत्तर निर्वाचन क्षेत्र के बारे में

परिसीमन के बाद 2012 में एक निर्वाचन क्षेत्र का गठन किया गया था और यहां पहली बार मतदान हुआ था। कांग्रेस के धर्मेंद्र सिंह जडेजा ने 2012 में निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता था, लेकिन अगले चुनाव में उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया। बीजेपी ने धर्मेंद्र सिंह को रिवाबा जडेजा के पक्ष में उतारा, लेकिन जामनगर उत्तर सहित तीन सीटों पर मतदान के लिए धर्मेंद्र सिंह को पार्टी का प्रभारी बनाया गया।

Edited By: Versha Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट