Move to Jagran APP

Chess WC में सिल्वर मेडल जीतने Praggnanandhaa का भारत लौटने पर हुआ भव्य स्वागत, CM Stalin से की खास मुलाकात

फिडे विश्व कप में रजत पदक जीतकर फिडे कैंडिडेट्स टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई करने वाले भारतीय शतरंज स्टार आर प्रगनानंद का स्वदेश पहुंचने पर बुधवार को भव्य स्वागत किया गया। इस पर उन्होंने कहा मुझे कुछ पछतावा हैज् लेकिन रजत पदक एक अद्भुत परिणाम है। मेरा ध्यान मुख्य प्रतियोगिता (विश्व कप) जीतने पर है। इससे पहले हवाई अड्डे पर प्रदेश के खेल विभाग के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

By Jagran NewsEdited By: Geetika SharmaThu, 31 Aug 2023 07:30 AM (IST)
प्रगनानंद का भारत लौटने पर हुआ भव्य स्वागत। फोटो- एक्स से साभार

नई दिल्ली, प्रिंट्र। फिडे विश्व कप में रजत पदक जीतकर फिडे कैंडिडेट्स टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई करने वाले भारतीय शतरंज स्टार आर प्रगनानंद का स्वदेश पहुंचने पर बुधवार को भव्य स्वागत किया गया। प्रगनानंद ने इस अवसर पर कहा कि उन्हें स्वर्ण पदक चूकने का मलाल है, परंतु रजत जीतना भी अद्भुत प्रदर्शन है।

चैंपियन बनान चाहेंगे-

प्रगनानंद ने कहा कि अगली बार वह इस टूर्नामेंट में चैंपियन बनना चाहेंगे। प्रगनानंद को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने 30 लाख रुपये और एक स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें शतरंज विश्व कप फाइनल में नार्वे के मैग्नस कार्लसन से हारने का कोई अफसोस है। इस पर उन्होंने कहा, 'मुझे कुछ पछतावा है, लेकिन रजत पदक एक अद्भुत परिणाम है। मेरा ध्यान मुख्य प्रतियोगिता (विश्व कप) जीतने पर है।

मुख्यमंत्री से की मुलाकात-

'प्रगनानंद मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए अलवरपेट स्थित उनके आवास पर पहुंचे। इस अवसर पर राज्य के युवा कल्याण और खेल विकास मंत्री उदयनिधि स्टालिन, प्रगनानंदा के माता-पिता के अलावा अधिकारी उपस्थित थे। विलक्षण प्रतिभा के धनी इस खिलाड़ी ने मुख्यमंत्री को वह रजत पदक दिखाया जो उन्होंने 2023 फिडे विश्व कप में जीता था।

क्या बोले मुख्यमंत्री-

स्टालिन ने कहा कि प्रगनानंदा की उपलब्धियों ने तमिलनाडु और पूरे देश को गौरवान्वित किया है। चेन्नई लौटने पर उन्हें इस प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी से भेंट करने की खुशी है। उन्होंने एक्स पर लिखा, 'मुझे प्रगनानंद को एक स्मृति चिह्न और 30 लाख रुपये के इनाम से सम्मानित करने का अवसर मिला। यह खेल में युवा प्रतिभाओं को पोषित करने की हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। प्रगनानंद अपनी इस लय को जारी रखें और आने वाली चुनौतियों में भी विजयी बनें।'

हवाई अड्डे पर हुआ प्रगनानंद का विषेश स्वागत-

इससे पहले यहां हवाई अड्डे पर प्रदेश के खेल विभाग के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। उनके प्रशंसक निकास द्वार पर जमा थे और उन्हें फूलों का गुलदस्ता, शाल और फूलों का मुकुट प्रदान किया। उनके बाहर निकलने पर उन पर फूल बरसाए गए और कलाकारों ने तमिलनाडु के लोकनृत्य प्रस्तुत किए। प्रगनानंद ने अपने इस भव्य स्वागत को लेकर कहा कि वह इससे अभिभूत हैं। उनकी मां नागलक्ष्मी भी अपने 18 वर्षीय बेटे के स्वागत से भाव विभोर थीं।