Move to Jagran APP

अमेरिका में भारतीयों को कड़े इमीग्रेशन जांच से नहीं गुजरना होगा

अमेरिका जाने वाले वीआइपी भारतीयों को सुरक्षा जांच के कड़े मापदंडों से नहीं गुजरना पड़ेगा।

By Sanjeev TiwariEdited By: Published: Mon, 30 May 2016 08:59 PM (IST)Updated: Mon, 30 May 2016 11:08 PM (IST)
अमेरिका में भारतीयों को कड़े इमीग्रेशन जांच से नहीं गुजरना होगा

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अब अमेरिका जाने वाले वीआइपी भारतीयों को सुरक्षा जांच के कड़े मापदंडों से नहीं गुजरना पड़ेगा। अमेरिका अब भारतीयों के विशेष दर्जा देने पर सहमत हो गया है, इसके तहत प्रमुख भारतीयों को इमीग्रेशन के दौरान विशेष बूथ पर जाना होगा।

loksabha election banner

जुलाई में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में अमेरिका में होने जा रहे होमलैंड सिक्यूरिटी की वार्ता के दौरान इसपर मुहर लग जाएगी। इसके साथ ही अमेरिका और भारत अब आतंकियों की रियल टाइम सूचना का आदान-प्रदान भी शुरू करने जा रहे हैं।

उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह के नेतृत्व में गृहमंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों प्रतिनिधिमंडल अमेरिका होमलैंड सिक्यूरिटी वार्ता के लिए जा रहा है। इस दौरान भारत के वीआइपी लोगों को इमीग्रेशन में विशेष दर्जा देने के समझौते पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है। अभी तक अमेरिका ने यह दर्जा केवल सात देशों के नागरिकों को दे रखा है। भारत अब आठवां देश हो जाएगा।

पढ़ेंः मोदी की अमेरिका यात्रा पर कारोबार पांच गुणा करने का बनेगा रोडमैप

इसके तहत भारत अपने प्रमुख उद्योगपतियों, पूर्व मंत्रियों, अभिनेताओं व अन्य व्यक्तियों की सूची अमेरिका को सौंपेगा। इस सूची में शामिल व्यक्तियों को अमेरिका जाने पर कड़े इमीग्रेशन चेक से नहीं गुजरना होगा। उनके लिए अलग से बूथ बने होंगे। जहां दस्तावेजों की सामान्य जांच के बाद उन्हें जाने दिया जाएगा।

इसके साथ ही राजनाथ सिंह के दौरे में अमेरिका से आतंकियों के बारे में रियल टाइम सूचना के आदान प्रदान पर समझौते की भी उम्मीद है। पिछले एक साल की बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच इस पर सहमति बन गई है। इसके तहत अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआइ और भारतीय एजेंसी खुफिया ब्यूरो (आइबी) एक-दूसरे के नेटवर्क पर उपलब्ध आतंकियों की सूचना का आदान-प्रदान कर सकेंगे।

पढ़ेंः 'मोदी की तरह आर्थिक योजनाओं का खाका तैयार करें अगले अमेरिकी राष्ट्रपति'


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.