नई दुनिया, इंदौर। अभिनेता शाहरुख खान के देश में असहिष्णुता बढ़ने संबंधी बयान पर लगातार तीखी प्रतिक्रियाएं आने के बाद भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अपना विवादित ट्वीट वापस ले लिया है। विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा था कि शाहरुख शरीर से हिंदुस्तान में रहते हैं पर उनका मन हमेशा पाकिस्तान में रहता है। उनकी फिल्मों ने भारत में करोड़ों कमाये लेकिन भारत उन्हें असहिष्णु नजर आ रहा है।

उन्होंने कहा कि मेरे ट्वीट का गलत अर्थ लगाया गया है। मेरा मकसद किसी को दुखी करने का नहीं है।

पढ़ेंः शाहरुख खान बोले, मैं नहीं लौटाऊंगा अपने अवार्ड

भारत संयुक्त राष्ट्र संघ का स्थाई सदस्य बनने जा रहा है। पाकिस्तान समेत तमाम भारत विरोधी ताकतें इसके विरोध में षड्यंत्र रच रही हैं। देश में असहिष्णुता का वातावरण खड़ा करना उसी षड्यंत्र का हिस्सा है। अगले ट्वीट में उन्होंने फिर लिखा कि शाहरुख खान ने असहिष्णुता का राग अलापकर पाकिस्तान और भारत विरोधी ताकतों के सुर में सुर मिलाया है। उन्होंने कहा कि जब 1993 में मुंबई में सैकड़ों लोग मारे गए, तब वह कहां थे।

पढ़ेंः VIDEO : किंग खान से कुछ इस अंदाज में मिले कॉन्टेस्ट के विजेता

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप