नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में बीएसएफ पर हुए आतंकी हमले को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज संसद के दोनों सदनों में बयान दिया। उन्होंने हमले में शहीद हुए जवानों को वीरता पुरस्कार देने की घोषणा की।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में अपने बयान में पूरी घटना की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि उधमपुर में बीएसएफ पर हमले में दो जवान श्ाहीद हुए। जबकि एक आतंकी को मार गिराया गया और एक को जिंदा पकड़ लिया गया। पकड़े गए आतंकी का नाम मोहम्मद नावेद उर्फ उस्मान और मारे गए आतंकी का नाम मोमिन है। उन्होंने बताया कि दोनों पाकिस्तान के फैसलाबाद के रहने वाले हैं।

राजनाथ सिंह ने शहीद के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए शहीद जवानों को वीरता पुरस्कार से नवाजे जाने की घोषणा की। इसके साथ ही उन्हाेंने कहा कि आतंकी को पकड़ने वाले ग्रामीणों की सुरक्षा की मुकम्मल व्यवस्था की जाएगी।

राजनाथ के बयान के बाद कांग्रेस के 25 सांसदों के लोकसभा से पांच दिन के लिए निलंबन को लेकर विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया। सदस्य सभापति के अासन के सामने आकर नारेबाजी करने लगे। इसे देखते हुए उपसभापति पी जे कुरियन ने सदन की कार्यवाही पहले दोपहर 12 बजे, 2 बजे और फिर कल तक के लिए स्थगित कर दी। बाद में 12 बजे राजनाथ सिंह ने उधमपुर हमले पर लोकसभा में भी बयान दिया।

इस बीच, आतंकी को किसने मारा, इस पर बीएसएफ और सीआरपीएफ के बीच विवाद हो गया है। बीएसएफ का दावा है कि शहीद कांस्टेबल रॉकी ने आतंकी को मारा, जबकि सीआरपीएफ का कहना है कि उसके इंस्पेक्टर सुभेंदु राय ने आतंकी को ढेर किया।

पढ़ें : हिंदू आतंकवादः बेचैन कांग्रेस पर भाजपा और हमलावर

पढ़ें : आतंकियों के हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा: राजनाथ

Edited By: Sanjay Bhardwaj