नई दिल्ली। कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद शुरू हुई हिंसा को लेकर पाक के मातम पर सैैयद अकबरुद्दीन ने तीखा हमला बोला है। यूनाइटेड नेशंस में भारत के प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने जनरल असेंबली के प्रमुख मोगन्स लीक्केटोफ्ट द्वारा मानव अधिकारों पर आयोजित बहस के दौरान पाकिस्तान को आतंक का पनाहगार बताते हुए लताड़ लगाई है।

अकबरुद्दीन ने अपने संबोधन में कहा कि कश्मीर में मानव अधिकारों की बात करने वाले पाकिस्तान में मानव अधिकारों की हालत बेहद खराब है। पाकिस्तान यून द्वारा दिए गए मंच के दुरुपयोग की कोशिश करने में लगा रहता है। उसकी नजर दूसरों की जमीन पर रहती है और इसके लिए वो आतंक को नीति के तौर पर इस्तेमाल करता है।

पढ़ेंः यूएन में भारत ने कहा- अातंकवाद पाकिस्तान की सरकारी नीति है

अकबरुद्दीन ने आगे कहा कि पाक आतंकियों की हरकतें अपनाता है और यूएन ने जिन्हें आतंकी घोषित किया है उन्हें पनाह देता है। दुनिया पाकिस्तान की चाल को समझ रही है और यूएन पर इसका असर नहीं पड़ेगा।

यूएन में भारत के सख्त बोल- आतंक को पनाह देने वालेे देशों की तय हो जवाबदेही

उन्होंने आगे कहा कि पाक वही देश है जिसके ट्रैक रिकॉर्ड के चलते वो दुनिया को यूएनजीए में मानव अधिकार काउंसिल की सदस्यता को लेकर यकीन दिलाने में नाकाम रहा है। एक विविध, बहुलतावादी और सहिष्णु समाज के रूप में भारत लोकतंत्र और मानव अधिकारों के सिद्धांतों को संजोए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। भारत लागातार मानव अधिकारों की रक्षा बातचीत और सहयोग के जरिये करते रहने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

पाकिस्तान को बुरहान के अातंकी होने का सबूत देगा भारत!

मालूम हो कि पिछले दिनों आतंकी बुरहान की मौत पर पाक पीएम ने गहरा दुख जताया था साथ ही कश्मीर में मानव अधिकारों को लेकर भी बयान दिया था। इसके बाद पाक सेना प्रमुख ने भी अपने बयान में वानी की मौत का विरोध किया था।

Posted By: Manoj Yadav