Move to Jagran APP

Reasi Attack: आतंकी हमले के खिलाफ जयपुर में प्रदर्शन, सरकार ने किया आश्रितों को 50 लाख रुपये और संविदा पर नौकरी देने का एलान

Reasi Terror Attack नौ जून की शाम जम्मू और कश्मीर के रियासी में आतंकियों ने श्रद्धालुओं से भरी एक बस को निशाना बनाया। आतंकियों की ताबड़तोड़ गोलियों का शिकार बस चालक बना। इसके बाद अनियंत्रित होकर बस गहरी खाई में जा गिरी थी। इस घटना में 10 लोगों की जान गई है। इनमें से चार लोग जयपुर के रहने वाले थे।

By Jagran News Edited By: Ajay Kumar Published: Tue, 11 Jun 2024 06:02 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 06:02 PM (IST)
आतंकी हमले में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों ने जयपुर में किया प्रदर्शन।

जागरण संवाददाता, जयपुर। जम्मू-कश्मीर के रियासी में दो दिन पहले हुए आतंकी हमले में मारे गए जयपुर के चार लोगों के शव मंगलवार को ट्रेन से पहुंचाए गए। चारों के शव पहुंचते ही लोगों ने प्रदर्शन किया। बड़ी संख्या में लोग शहर के मुरलीपुरा और चौमू पुलिस थाने के बाहर जुटे।

यह भी पढ़ें: बस खाई में न गिरती तो… सामने ‘मौत’ देखकर कांप गई रुह, रियासी आतंकी हमले के घायलों ने सुनाई आपबीती

प्रदर्शन करने वालों ने राजस्थान सरकार से मृतकों के आश्रितों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की। हालांकि राजस्थान सरकार ने 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और संविदा पर नौकरी देने का एलान किया है।

एक यात्री बस में की तोड़फोड़

राज्य सरकार ने जब दोपहर तक आर्थिक सहायता और नौकरी देने की घोषणा नहीं की तो लोग उग्र हो गए। लोगों ने चौमू के बाजार को बंद करवा दिया। एक यात्री बस और अन्य वाहनों में तोड़फोड़ की। दोनों पुलिस थानों के बाहर धरने पर बैठे लोगों ने आतंकवाद और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। लोगों का गुस्सा बढ़ता देख आसपास के छह थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। मगर लोगों का गुस्सा शांत नहीं हुआ।

भूपेंद्र सैनी के साथ धक्का-मुक्की

भाजपा के राज्यसभा सांसद राजेंद्र गहलोत व भाजपा नेता भूपेंद्र सैनी मौके पर पहुंचे। गहलोत ने मृतकों के बच्चों की शिक्षा का खर्च खुद वहन करने की बात कही, इस पर भी लोग नहीं माने। इस दौरान सैनी के साथ लोगों ने धक्का-मुक्की की।

पुलिस ने किया हल्का बल प्रयोग

उग्र लोगों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने हल्का बल का प्रयोग किया। वहीं चौमू बाईपास पर जाम को हटवाया। चौमू के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने कहा कि कुछ लोग माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे थे। पीड़ित पक्ष के लोगों ने धरना दिया। उल्लेखनीय है कि नौ जून को जम्मू-कश्मीर में श्रद्धालुओं से भरी बस पर आतंकियों ने हमला किया था। इसमें 10 लोगों की मौत हुई थी। इनमें से चार लोग जयपुर के रहने वाले थे।

50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और संविदा पर मिलेगी नौकरी

कई दौर की वार्ता के बाद अब सहमति बन गई है। राजस्थान सरकार मृतकों के आश्रितों को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और दो आश्रितों को संविदा पर नौकरी व परिवार के एक सदस्य को डेयरी बूथ आवंटित करेगी। सरकार की घोषणा के बाद लोग शवों का अंतिम संस्कार करने को राजी हुए।

यह भी पढ़ें: 'हमें लगता है हमले में लश्कर का हाथ है', DIG रईस मोहम्मद ने किया दावा; आंतकियों की तलाश में अभियान तेज


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.