नई दिल्ली, एएनआइ। मतदान शुरु होने से पहले ही छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ शुरु हो गई थी। लंबी चली मुठभेड़ में सुरक्षाकर्मियों ने दो नक्सलियों को मार गिराया। दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि ये नक्सली बड़ी घटना के अंजाम देने के इरादे से IED स्थापित करने के लिए आए थे। ऐसे में यह एक बड़ी उपलब्धि है। साथ ही उन्होंने बताया कि नक्सलियों के पास मौजूद हथियार भी बरामद कर लिए गए हैं। ये नक्सली हाल ही में छत्तीसगढ़ में हुई भाजपा विधायक भीमा मांडवी और  5 पुलिसवालों की हत्या में शामिल थे।

ये IED ब्लास्ट  कोराचा और मानपुर रोड, राजनांदगांव में ITBP रोड ओपनिंग पार्टी (ROP) पर  सुबह 11 बजे हुआ था। इस हमले में ITBP कांस्टेबल मान सिंह को मामूली चोटें आईं। फिलहाल, वह खतरे से बाहर है और उसी क्षेत्र में प्राथमिक उपचार अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। फिलहाल, क्षेत्र में मतदान चल रहा है।

 

 

बता दें कि छत्तीसगढ़ के कुआकोंडा पुलिस थाना सीमा के अंतर्गत धनिकरका के वन क्षेत्र में यह मुठभेड़ हुई। छत्तीसगढ़ के जिला रिजर्व गार्ड (DRG) के साथ मुठभेड़ में दो नक्सलियों को मार गिराया गया एवं एक नक्सली गंभीर रुप से घायल है। 

मिल रही शुरुआती जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह दंतेवाड़ा के कुआकोंडा थाना सीमा पर पुलिस सर्च ऑपरेशन के लिए निकले हुए थे। इसी दौरान नकस्लियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरु कर दी। नकस्लियों की फायरिंग का पुलिस ने मुंहतोड़ जवाब दिया। नक्सलियों संग हुई मुठभेड़ में एक नक्सली कमांडर वर्गीस भी मारा गया है। नक्सली कमांडर वर्गीस पर पांच लाख रुपये का इनाम भी था।

गौरतलब है कि दूसरे चरण के दौरान छत्तीसगढ़ में गुरुवार को मतदान हैं। राज्य के राजनांदगांव, महासमुंद तथा कांकेर लोकसभा सीटों के लिए मतदान हो रहे हैं। मालूम हो कि पहले चरण के चुनाव से पहले छत्तिसगढ़ में एक बड़ा नक्सली हमला हुआ था। नक्सली बड़े हमले में भाजपा विधायक समेत चार जवान शहीद हो गए थे। वहीं, अब एक बार फिर नक्सलियों ने रविवार रात बीजापुर में में रामनवमी मेले के दौरान हमला किया है। 

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप