नई दिल्ली, एजेंसी। सैन फ्रांसिस्को में भारत का महावाणिज्य दूतावास (Consulate General) भारतीय मूल के उन चार सदस्यों के परिवार के संपर्क में है, जिनकी कैलिफोर्निया में हत्या कर दी गई थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मृतक के परिवार को हर संभव मदद किया जा रहा है। मर्सिड काउंटी पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है।

अपहरण के बाद हुई थी हत्या

मालूम हो कि 36 साल के जसदीप सिंह, 27 साल के जसलीन कौर, उनकी आठ माह की बेटी आरोही ढेरी और 39 साल के अमनदीप सिंह समेत कुल चार लोगों के एक सिख परिवार का अपहरण कर लिया गया था। मर्सिड काउंटी के शेरिफ वर्न वार्नके ने बुधवार को बताया कि अपहरण के बाद भारत के मूल रूप से पंजाब के रहने वाले एक सिख परिवार के चार सदस्यों के शव मर्सिड काउंटी के दूरदराज एक खेत में पड़े मिले।

हर संभव मदद का दिया भरोसा

इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, 'हमारे महावाणिज्य दूतावास ने इस मामले पर ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि वे परिवार के संपर्क में हैं। हमें इस मामले की जानकारी है। मर्सेड काउंटी पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है।' अरिंदम बागची ने अपने साप्ताहिक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि भारत परिवार को हर संभव मदद प्रदान करेगा।

दो दिन बाद मिला शव

अधिकारियों ने बताया कि भारतीय मूल के परिवार का बंदूक की नोंक पर सोमवार को अपहरण कर लिया गया था। सीसीटीवी में अपहरण का पूरा वीडियो रिकार्ड हुआ है। अपहरण के दो दिन के बाद पुलिस को परिवार के सभी चारों सदस्यों के शव मिले। इस हत्या के मामले में एक संदिग्ध को गुरुवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें-  3 दिन में खत्म हो गया 16 साल पहले पंजाब से अमेरिका गया परिवार, अपहरण के बाद हुई हत्या

यह भी पढ़ें- अमेरिका: भारतीय मूल का अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार, बेटे को तलाक देने पर बहू की गोली मारकर की थी हत्या

Edited By: Sonu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट