कोच्चि, आइएएनएस। केरल के कोच्चि तट से 210 किलो हेरोइन ले जा रहे छह लोगों के साथ एक ईरानी नाव को जब्त करने के एक दिन बाद इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों ने बताया है कि ड्रग्स सप्लाई करने वाले समूह का एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग माफिया के साथ संबंध हैं और इसकी जड़ें पाकिस्तान में हैं। भारतीय नौसेना और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के संयुक्त अभियान में गुरुवार को नाव को जब्त किया गया था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करीब 1200 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

ड्रग्स माफिया का पाकिस्तान कनेक्शन

बता दें कि गिरफ्तार लोगों को हिरासत में लिया गया और पूछताछ करने के बाद उनके कनेक्शन और उनके आपरेशन के बारे में पता चला। प्राप्त जानकारी के अनुसार, अफगानिस्तान से आई 210 किलोग्राम हेरोइन की एक खेप पहले ईरान भेजी गई और फिर वहां से उसे अन्य जगहों पर ले जाया गया। पूछताछ में पता चला है कि नाव को गहरे समुद्र में रखा जाता है और जब उसे पाकिस्तान से सैटेलाइट फोन के माध्यम से निर्देश मिलते हैं, तब वह अपने ठिकाने की ओर चलती है।

BSF ने कोशिश किया था नाकाम

जानकारी के अनुसार, BSF ने पांच अक्टूबर को अमृतसर से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास एक नार्को-टेरर की कोशिश को नाकाम कर दिया था और 2 किलो से अधिक ड्रग्स जब्त किया था। साथ ही घटनास्थल से गोला बारूद भी बरामद किया गया था। इससे पहले, 12 सितंबर को सुरक्षा बल ने एक ड्रोन को पाकिस्तान की ओर वापस उड़ान भरने पर मजबूर कर दिया था। ड्रोन पंजाब के गुरदासपुर में भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने का प्रयास किया था।

मुंबई और गुजरात से 60 किलो से अधिक ड्रग्स जब्त

इसके साथ ही NCB ने मुंबई और गुजरात से 60 किलो से अधिक मेफेड्रोन ड्रग्स जब्त की है। इस मामले में एयर इंडिया के एक पूर्व पायलट सहित छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं। जब्त किए गए ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 120 करोड़ से अधिक बताई जा रही है। इसमें तीन अक्टूबर को गुजरात के जामनगर से जब्त 10 किलोग्राम मेफेड्रोन भी शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: देश में बड़ी मात्रा में कब और कहां जब्त हुई ड्रग्स, अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों में कीमत

ये भी पढ़ें: NCB ने हासिल की बड़ी कामयाबी, मुंबई के गोदाम से 50 किलो मेफेड्रोन को किया बरामद

Edited By: Devshanker Chovdhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट