Move to Jagran APP

बिहार में BJP की सरकार बनते ही बदल जाएंगे हालात: राजनाथ सिंह

युवाओं का दिल जीतना है तो पढ़ाई, कमाई और दवाई के साथ स्वाभिमान और वीरता की छौक जरूरी है। बिहार में महिलाओं और युवाओं पर दांव लगा रही भाजपा के वरिष्ट नेता व केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह कुछ इसी फामरूले पर बिहारी युवाओं और महिलाओं को भाजपा के साथ जोड़ने

By Kamal VermaEdited By: Published: Sat, 17 Oct 2015 08:10 AM (IST)Updated: Sat, 17 Oct 2015 11:59 AM (IST)

पटना। युवाओं का दिल जीतना है तो पढ़ाई, कमाई और दवाई के साथ स्वाभिमान और वीरता की छौक जरूरी है। बिहार में महिलाओं और युवाओं पर दांव लगा रही भाजपा के वरिष्ट नेता व केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह कुछ इसी फामरूले पर बिहारी युवाओं और महिलाओं को भाजपा के साथ जोड़ने की कोशिश मे हैं। गोमांस और जुबानी जंग से मुद्दे को बाहर निकालते हुए छपरा, राघोपुर और बिहार शरीफ की रैलियों में राजनाथ ने जहां एक स्वाबलंबी बनाने की का वादा किया वहीं ताली बजाते युवाओं की भीड़ को यह बताने में कोई कोताही नही की कि पाकिस्तान से हम मित्रता चाहते हैं, लेकिन वह दुश्मनी करे तो हम उसमें भी कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। दो चरण के मतदान खत्म हो चुके हैं। बढ़ते वोट प्रतिशत से भाजपा आशान्वित भी है। ऐसे में आखिरी तीन चरणों में पूरा जोर इसी वर्ग पर होगा। रैलियों में इसी की झलक दिखी।।

loksabha election banner

अब तक बिहार मे 26 रैलियां कर चुके राजनाथ ने गंभीरता से चुनावी मुद्दों को धार दी विकास की बात दोहराई तो शाहनवाज नीतीश कुमार और लालू प्रसाद पर चुटकी लेते रहे। राजनाथ ने विकास के बाबत युवाओं को सोचने के लिए मजबूर किया तो शाहनवाज ने चुनावी माहौल में ऐसी हल्की फुल्की चर्चा का माहौल बनाया जिसमें महागठबंधन पर चुटकी ली जा सके। मुख्यत: युवाओं व महिलाओं की भीड़ को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि चुनाव ऐसा पर्व होता है जहां केवल विकास से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होनी चाहिए। आखिर वही किसी भी राज्य का भविष्य बनाएगा। लेकिन, बिहार में कभी गोमांस का प्रकरण हो रहा है तो कभी भीतरी बाहरी का दरअसल महागठबंधन विकास से लोगों को भटकाना चाहता है।

लालू के बेटों के लिए वोट मांगने निकले नीतीश कुमार

महिलाओं और नौजवानों से संवाद करते हुए उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था सबसे अहम होता है। लेकिन, बिहार में वह ध्वस्त है। बतौर गृहमंत्री उन्होंने वादा किया कि राज्य में भाजपा की सरकार बनेगी तो वह अपने मुख्यमंत्री को कहेंगे कि पहले छह माह के अंदर ऐसा माहौल बनाए कि कोई बदमाश शर्ट की बटन तक खोलकर न चलने पाए। इसी क्रम में उन्होंने पाकिस्तान का प्रसंग भी छेड़ा और कहा कि उनकी गोलियां चलाने की आदत बन गई है। अक्टूबर में जब फिर से पाकिस्तानी गोली से भारतीयों की जान गई तो गृहमंत्री के तौर पर उन्होंने आदेश दिया कि अब गोली चले तो फिर भारतीय जवानों को गिनकर गोली चलाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा का प्रामाणिकता रही है।

बिहार चुनाव से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

गुजरात हो या मध्य प्रदेश या फिर छत्तूीसगढ़ वहां पिछले दस सालों में हर स्तर पर परिवर्तन आया है। बिहार भी बदलेगा। भाजपा शासन में चहुमुंखी विकास होगा। बिहार में कांग्रेस, राजद और जदयू का संयुक्त रूप से साठ साल का शासन हो गया है। उन्हें जवाब देना चाहिए कि बिहार अभी तक सबसे पिछड़े राज्यों में क्यों शुमार है। वहीं तीनों रैलियों मे साथ रहे शाहनवाज ने मुख्यत: नीतीश लालू पर तंज कसा। दूल्हा- दुल्हन के लालू के बयान पर चुटकी लेते हुए उन्होंने पूछा कि वह दुल्हन किसे समझ रहे हैं? शाहनवाज ने कहा कि भाजपा के प्रधानमंत्री ने खुद को प्रधान सेवक बताया है। भाजपा का मुख्यमंत्री भी मुख्य सेवक होगा, लालू नीतीश की तरह दूल्हा बनने की कोशिश नहीं होनी चाहिए। उन्होंने लालू के जहर पीने वाले बयान पर कहा कि वह अपने बेटों को जिताने के लिए जहर पीएं, लेकिन बिहार जहर पीने को तैयार नहीं है।

पढ़ें:लोकतंत्र के पर्व को अपमानित कर रहे महागठबंधन के नेता : राजनाथ


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.