नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। Bihar Board 10th Result 2020 Key Stats: इस वर्ष की बिहार बोर्ड 10वीं परीक्षाओं के परिणामों की घोषणा आज कर दी गयी है। बोर्ड ने परिणाम के बारे आधिकारिक जानकारी अपनी वेबसाइट पर जारी किये और नतीजों को लेकर आधिकारिक विज्ञप्ति भी जारी की। जिसके अनुसार 10वीं बोर्ड की परीक्षा परिणामों के आधार पर छात्रों ने एक बार फिर बाजी मारी है, शीर्ष के चार स्थानों पर छात्र रहे।

वर्ष 2020 की बिहार 10वीं की बोर्ड परीक्षा में कुल 1204030 परीक्षार्थियों यानि 80.59 फीसदी छात्रों ने सफलता हासिल की। वहीं, हिमांशु राज ने 96.20 फीसदी अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया। हिंंमांशु राज का रोल कोड 74084 और रोल नंबर 2000489 है। जबकि छात्रों में पहले और कुल परिणामों में 5वें स्थान पर छात्रा जूली कुमारी हैं।

Bihar Board 10th Topper List: हिमांशु राज बनें 10वीं के टॉपर, चेक करें पूरी लिस्ट और जानिए किसने पाए कितने अंक

बिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट 2020 के लिए जारी की गयी ऑफिशियल विज्ञप्ति के अनुसार इस वर्ष बिहार 10वीं बोर्ड परीक्षा में कुल 1494071 छात्रों ने परीक्षा दी थी। परीक्षा के परिणामों के आधार पर कुल परीक्षार्थियों की संख्या में से छात्रों की सफलता का प्रतिशत 80.59 रहा। कुल परीक्षार्थियों में 729213 छात्र और 764858 छात्राएं थीं।

BSEB, Bihar Board 10th Result 2020: टॉप 4 में छात्राओं को नहीं मिली जगह, इस बार जानें कैसा रहा लड़कियों का प्रदर्शन

वहीं डिविजन के आधार पर देखें तो बोर्ड परीक्षा के परिणामों के आधार पर कुल 403393 विद्यार्थी फर्स्ट डिविजन में सफल हुए हैं, जबकि 524217 परीक्षार्थी सेकेंड डिविजन में और 275402 विद्यार्थी थर्ड डिविजन से पास हुए हैं। प्रथम श्रेणी से पास कुल विद्यार्थियों में से 238093 छात्र और 165299 छात्राएं हैं। इसी प्रकार सेकेंड डिविजन से पास कुल विद्यार्थियों में से 257807 छात्र और 266410 छात्राएं हैं। जबकि थर्ड डिविजन से पास कुल विद्यार्थियों में से 117116 छात्र और 158286  छात्राएं हैं।

बिहार बोर्ड 10वीं के टॉपर्स: टॉप 4 पर बॉयज

-हिमांशु राज (481)

-दुर्गेश कुमार  (480)

-शुभम कुमार (478)

-राजवीर (478)

-जूली कुमारी (478)

-सन्नू कुमार (477)

-मुन्ना कुमार (477)

-नवनीत कुमार (477)

-रंजीत कुमार गुप्ता (476)

-अंकित राज (475)

वर्ष 2019 में कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा में 80.73 फीसदी छात्र सफल रहे थे, यानि कि इस बार कुल उत्तीर्ण छात्रों की प्रतिशत पिछले साल की तुलना में लगभग बराबर रहा। हालांकि, यह वर्ष 2018 और 2017 की तुलना काफी अधिक है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस