भोपाल, एजेंसी। देश भर में बीते दिनों नौ‍ दिवसीय नवरात्रि (Navratri) के त्‍योहार को बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया, जिसका समापन बीते बुधवार को विजयादशमी (Vijayadashmi) के पर्व के साथ हुआ। इस दौरान एक तरफ जहां लोगों ने खूब मस्‍ती की, वहीं दूसरी ओर कई हादसे भी हुए।

अगर मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) की बात करे तो इन दस दिनों में राज्‍य में एक बच्‍ची की मौत हो गई, एक महिला एसिड अटैक (Acid Attack) का शिकार हुई और साथ ही सड़क दुर्घटना होने की भी खब‍र मिली। बुधवार को इंदौर (Indore) में 11 साल की एक बच्‍ची संदग्धि परिस्थितियों में मृत पाई गई। वह एक गरबा समारोह में हिस्‍सा लेने पहुंची थी, जहां पहचान पत्र के साथ आना अनिवार्य था।

MP Indian Railway: यात्रीगण कृपया ध्यान दें! छठ व दीपावली पर मिलेगी कंफर्म टिकट, बढ़ेगी विशेष ट्रेनों की संख्या

पहचान पत्र न लाने की स्थिति में खूब हंगामा हुआ था। बच्‍ची के शव की जांच हुई तो पता चला कि उसके सिर पर गोली लगने का पता चला, जिसे डाक्‍टरों ने पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट के दौरान खोपड़ी से निकाला। 

पुलिस को शक है कि जश्‍न के माहौल में हवा में की गई फायरिंग के दौरान बच्‍ची के सिर में गोली लगी होगी। इधर, मंगलवार को जबलपुर में दुर्गा पूजा के एक पंडाल में कुछ लोगों ने एक महिला पर एसिड से हमला कर दिया। इससे महिला का चेहरा काफी हद तक झुलस गया है। उनका फिलहाल एक अस्‍पताल में इलाज चल रहा है।

इस घटना के संदर्भ में दस संदिग्‍धों को हिरासत में लिया गया है। एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, जबलपुर के सुनरहाइ नामक इलाके में पीड़ित अपनी मां के साथ दुर्गा पूजा पंडाल घूमने के लिए गई थी। तभी कुछ लड़कों ने उसके चेहरे पर एसिड जैसे किसी केमिकल को उड़ेल दिया। बाद में प्रयोगशाला में जांच हुई तो पता चला कि यह एसिड ही है। हम दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

इसके अलावा, पिछले डेढ़ हफ्ते के दरमियान विभि‍न्‍न इलाकों में दो समुदायों के बीच मारपीट या झड़प होने की भी कई घटनाएं हुई हैं। आगर मालवा जिले में दो समूहों में कहासुनी व मारपीट होने की एक ऐसी ही घटना में लोगों ने एक-दूसरे की डंडे से पिटाई की है। मामला इतना गंभीर रहा कि महिलाओं और वरिष्‍ठ नागरिकों को इधर-उधर भागकर खुद को बचाना पड़ा।

घटना भोपाल से 200 किलोमीटर दूर आगर जिले के एक गांव के मंदिर परिसर में हुई। झड़प के दौरान कम से कम आधा दर्जन लोग घायल हो गए। विडंबना यह है कि राज्य सरकार और पुलिस द्वारा उत्सव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के पुख्‍ता इंतजाम होने का दावा करने के बावजूद पूजा पंडालों में अपराध की ऐसी घटनाएं दर्ज हुईं।

Indore: 424 किलो गांजे से लदे ट्रक को डीआरआइ की टीम ने पकड़ा, काफी मशक्‍कत के बाद कार्रवाई को दिया अंजाम

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट