Move to Jagran APP

पति से तंग आकर पत्‍नी ने बच्ची को कुएं में फेंका, ग्वालियर में दोस्त ने नगर निगम कर्मचारी की हत्या की

जांच से पता चला कि आरोपिता बबीता यादव (25) अपने पति चंद्रप्रकाश यादव के व्यवहार से परेशान होकर 21 अक्टूबर के रात्रि 11 बजे अपनी मासूम बेटी कुमारी राही यादव को सोते से उठाकर हत्या करने की नियत से कुएं में फेंक दी।

By Jagran NewsEdited By: Shashank MishraMon, 31 Oct 2022 09:59 PM (IST)
पति से विवाद के बाद पत्‍नी ने बच्ची को उतारा मौत के घाट

बेमेतरा/ ग्वालियर, जेएनएन। पति से विवाद के बाद तंग आकर पत्‍नी ने चार महीने की मासूम बच्ची को कुएं में फेंका जिससे उसकी मौत हो गई। घोघरा थाना नवागढ़ की पुलिस ने कत्ल की गुत्‍थी सुलझाकर आरोपिता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की माने तो 22 अक्टूबर को मृतिका कुमारी राही (4 माह) की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु होने की रिपोर्ट पिता दिनेश यादव के माध्यम से थाने में दर्ज कराया गया। वहीं प्रकरण में जांच के दौरान 30 अक्टूबर को मौका घटना स्थल ग्राम घोघरा जाकर पूछताछ किया गया।

जांच से पता चला कि आरोपिता बबीता यादव (25) अपने पति चंद्रप्रकाश यादव के व्यवहार से परेशान होकर 21 अक्टूबर के रात्रि 11 बजे अपनी मासूम बेटी कुमारी राही यादव को सोते से उठाकर हत्या करने की नियत से कुएं में फेंक दी। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार महिला की यह तीसरी संतान थी। पुलिस ने आरोपिता द्वारा साक्ष्य छुपाए जाने पर धारा 302, 201 भादवि कायम कर विवेचना में लिया है। आरोपिता बबीता को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।

पति से विवाद के बाद पत्‍नी ने उठाया ये कदम

उक्त प्रकरण के संबंध में ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार पति और पत्नी के बीच बने विवाद के हालात से परेशान होकर महिला ने बेरहमी से अपने ही बेटी जो कि घर में सोई हुई थी, उसे कुएं में फेंक दिया। हालांकि इसे मानवता को शर्मसार करने वाली बात कहीं जा सकती है। एक अबोध नादान बच्‍ची का भला क्या गुनाह रहा होगा, जिसे सजा दी गई। क्या कुएं में फेंकते वक्त मां की ममता भी सामने नहीं आई और उस बच्‍ची को जो कि इस दुनिया को कुछ समझ पाती, इससे पहले ही उसे मौत के घाट उतार दिया गया।

नगर निगम कर्मचारी की हत्या

नगर निगम कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जिस युवक ने उसे घर के बाहर बुलाकर गोली मारी, वह नगर निगम कर्मचारी का ही दोस्त है। रात को जब वह अपनी पत्नी के साथ खाना खा रहा था, तभी घर के बाहर बुलाकर दोस्त ने ही उसे गोली मार दी। हत्या की वजह 8 हजार रुपए को लेकर चल रहा विवाद बताया गया है। यह घटना गोला का मंदिर इलाके की है। गोली मारकर हत्या की घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों के सुपुर्द कर दिया है। आरोपित के घर पुलिस पहुंची ,लेकिन वह गायब मिला।

गोला का मंदिर स्थित पिंटो पार्क इलाके के शिव कालोनी में रहने वाला विकास यादव नगर निगम कर्मचारी था। रविवार शाम को घर आया। रात को अपनी पत्नी अलका के साथ खाना खा रहा था। इसी दौरान उसके मोबाइल पर उसके देस्त मंतोष उर्फ विकास का काल आया। उसने फोन काट दिया। इसके बाद लगातार उसके फोन आते रहे, जब उसकी पत्नी ने फोन उठाने को कहा तब उसने फोन उठाया। फोन पर दोनों के बीच बहस होने लगी।

सीएसपी मुरार ऋषिकेष मीणा ने बताया कि बहस होने के दौरान ही मंतोष ने उसे बाहर बुलाया। लेकिन काफी देर तक वह बाहर जाने से इंकार करता रहा। काफी देर बाद होने के बाद वह बाहर पहुंच गया। पीछे-पीछे उसकी पत्नी भी पहुंच गई। यहां भी बहस हुई, इसी दौरान मंतोष ने कट्टा निकाला और फायर कर दिया। गोली विकास को लगी और वह लहूलुहान होकर गिर पड़ा। इसके बाद आरोपित भाग गया। पत्नी की चीख सुनकर आसपास मौजूद लोग आ गए। अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। फिर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम हाउस भिजवाया। पुलिस आरोपित के घर भी पहुंची, लेकिन वह गायब मिला।

8 हजार रुपए का था विवाद

राजेश दंडोतिया, एएसपी ने कहा, 8 हजार रुपए के विवाद को लेकर इनके बीच विवाद चल रहा था। इसके चलते पहले भी विवाद हो चुका था। पुलिस अधिकारियों का कहना है 8 हजार रुपए के विवाद पर ही यह हत्या हुई है। हत्या के मामले में आरोपित की तलाश चल रही है। उसके दोस्त पर ही हत्या का आरोप है, जब उसके घर टीम पहुंची तो गायब मिला। दो टीमें आरोपित की तलाश में लगाई है। जल्द ही उसे दबोच लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: Indore में चोरी के शक में नाबालिगों को सड़क पर घसीटने वाले आरोपितों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Gopashtami 2022: गोवंश आधारित आर्थिकी से लिख रहे स्वावलंबन की पटकथा, गाय और गोबर से स्कूल बना आत्मनिर्भर