जागरण संवाददाता, धनबाद: 17 अगस्त के बाद से धनबाद की सड़कों पर दिखने वाली धूल नजर नहीं आएगी। सिर्फ शहर ही नहीं बल्कि कोल डस्ट से प्रभावित केंदुआ, करकेंद और झरिया-सिंदरी तक की सड़कें साफ होंगी। नगर निगम की ओर से छोटी-बड़ी पांच रोड स्वीपिंग मशीनें आ चुकी हैं।

17 को बैंक मोड़ में दोपहर एक बजे इन मशीनों का उद्घाटन सांसद, मेयर, विधायक, नगर आयुक्त और अन्य पदाधिकारी करेंगे। कोयला नगरी होने के कारण धनबाद की सड़कों पर काफी डस्ट यानी धूलकण है। इसे साफ करने का बीड़ा नगर निगम ने उठाया है। यह स्वीपिंग मशीन ट्रक माउंटेन होगी। नगर निगम को उम्मीद है कि स्वीपिंग मशीन से शहर की सड़कों की सफाई व्यवस्था बेहतर हो सकेगी। ट्रक पर लगी मशीन 1 घंटे में 12 किलोमीटर तक सड़कों की सफाई कर सकेगी।

इस रूट पर होगी सफाई

- बैंक मोड़ से केंदुआ, करकेंद होते हुए कतरास

- बैंक मोड़ से झरिया, डिगवाडीह होते हुए सिंदरी

- बैंक मोड़ से रांगाटांड़, पूजा टॉकीज, सिटी सेंटर, रणधीर वर्मा चौक, पुलिस लाइन, कार्मिक नगर होते हुए सरायढेला।

सड़क पर जमा पानी को खींच लेगा मशीन में लगा सक्शन पंप: रोड स्वीपिंग मशीन आधुनिक तकनीक से लैस होगी। इसमें पावर वैक्यूम लगा होगा, जो सड़क पर डिवाइड में फंसे डस्ट को आसानी से खींच लेगा और एक टैंक में जमा कर देगा। मशीन में प्रेशर पंप भी लगा होगा, जिसकी मदद से जरूरत पडऩे पर सड़क की धुलाई भी की जा सकेगी। निगम को उम्मीद है कि जल जमाव की स्थिति में स्वीपिंग मशीन कारगर साबित होगी।

"रोड स्वीपिंग मशीनें आ चुकी हैं। 17 को इसका विधिवत उद्घाटन होगा। फिलहाल शहर के कुछ इलाकों में इसे काम पर लगाया जाएगा। परिणाम बेहतर मिला तो और मशीनें खरीदी जाएंगी।"

- चंद्रशेखर अग्रवाल, मेयर

Posted By: Deepak Kumar Pandey