Move to Jagran APP

Post Matric Scholarship को लेकर आया बड़ा अपडेट! हजारों छात्रों को अटक सकता है पैसा, ये है वजह

Post Matric Scholarship झारखंड के दस जिलों के हजारों बच्चे छात्रवृत्ति से वंचित रह जाएंगे। पोस्ट मैट्रिक के इन विद्यार्थियों ने अब तक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन नहीं किया है जबकि आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 फरवरी निर्धारित है लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण पोस्ट मैट्रिक वाले सरकारी एवं गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं की विवरणी ई-कल्याण पोर्टल पर एंट्री नहीं की गई है।

By Julqar Nayan Edited By: Shashank ShekharPublished: Sat, 17 Feb 2024 05:13 PM (IST)Updated: Sat, 17 Feb 2024 05:13 PM (IST)
Post Matric Scholarship को लेकर आया बड़ा अपडेट! हजारों छात्रों को अटक सकता है पैसा, ये है वजह

जुलकर नैन, चतरा। झारखंड के दस जिलों के हजारों बच्चे छात्रवृत्ति से वंचित रह जाएंगे। पोस्ट मैट्रिक के इन विद्यार्थियों ने अब तक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन नहीं किया है, जबकि आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 फरवरी निर्धारित है, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण पोस्ट मैट्रिक वाले सरकारी एवं गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं की विवरणी ई-कल्याण पोर्टल पर एंट्री नहीं की गई है।

loksabha election banner

परिणामस्वरूप विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन करने से वंचित हैं। ऐसा माना जा रहा है कि अधिकारियों की शिथिलता के कारण यह परिस्थिति उत्पन्न हुई है। जिन जिलों के बच्चे पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति से वंचित होने वाले हैं, उनमें चतरा, बोकारो, धनबाद, गढ़वा, गिरिडीह, गुमला, लातेहार, पाकुड़, पलामू एवं रामगढ़ शामिल हैं।

राज्य सरकार के आदिवासी कल्याण आयुक्त का पत्रांक 2179 दिनांक 19.12.23 को स्पष्ट शब्दों में कहा गया है कि छात्रवृत्ति के लिए छात्र-छात्राओं को आवेदन करने की तिथि 11 जनवरी 2024 से लेकर 20 फरवरी 2024 तक निर्धारित है, जबकि शैक्षणिक संस्थानों का पंजीकरण के लिए 20 दिसंबर 2023 से लेकर 10 जनवरी 2024 तक निर्धारित थी, लेकिन जानकर आश्चर्य होगा कि चतरा में पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए किसी भी शैक्षणिक संस्थान का पंजीकरण नहीं हुआ।

पंजीकरण का दायित्व जिला कल्याण पदाधिकारी को है। ऐसे में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक तथा पिछड़ी जाति के पोस्ट मैट्रिक के छात्र-छात्राएं छात्रवृत्ति से वंचित रह जाएंगे। छात्र-छात्राओं में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। उनका कहना है कि अधिकारियों और कर्मियों की लापरवाही का खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ रहा है।

प्री मैट्रिक के 53784 बच्चों को मिली छात्रवृत्ति

कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति, अल्पसंख्यक तथा पिछड़ी जाति बच्चों को दो प्रकार की छात्रवृत्ति दी जाती है। पहली से दसवीं कक्षा के बच्चों के लिए प्री मैट्रिक और ग्यारहवीं से लेकर उच्चतर शिक्षा के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति मिलती है।

चतरा जिले में चालू वित्तीय वर्ष 2023-24 में प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए कुल 93,734 विद्यार्थियों ने आवेदन किया है, जिनमें से अब तक 54,784 को छात्रवृति मिल चुकी है। वहीं, पोस्ट मैट्रिक के लिए 17 फरवरी 2024 तक एक भी आवेदन नहीं हुआ है।

क्या कहते हैं जिला कल्याण पदाधिकारी 

थोड़ा विलंब जरूर हुआ है, लेकिन इसका यह अर्थ नहीं कि विद्यार्थी छात्रवृत्ति से वंचित हो जाएंगे। प्रक्रिया चल रही है। पोस्ट मैट्रिक के छात्रवृत्ति के इच्छुक विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। कहीं से कोई समस्या नहीं होगी।- विजय दास, जिला कल्याण पदाधिकारी, चतरा।

ये भी पढ़ें:

बैद्यनाथ राम के मंत्री नहीं बनने से Champai soren की बढ़ेगी टेंशन! चुनाव में वोट बैंक पर पड़ सकता है सीधा असर

झारखंड में प्राइवेट नौकरी में 75 फीसद आरक्षण पर ग्रहण! चंपई सरकार के कानून को रोकने के लिए याचिक दाखिल


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.