Move to Jagran APP

'बेकसूरों की मौत का तमाशा देख रही दुनिया, इजरायल के जालिमों फलिस्तीन को खाली करो'; समर्थन में सड़क पर उतरीं महबूबा मुफ्ती

Jammu-Kashmir News इजरायल-हमास (Israel-Hamas War) के बीच 15वें दिन भी युद्ध जारी है। इसी बीच पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti Protest in support of Palestine) ने फलस्तीन के समर्थन में उतरीं। उन्होंने कहा कि फलस्तीन में 1500 बच्चे मारे गए हैं और पूरी दुनिया तमाशा देख रही है।

By Jagran NewsEdited By: Preeti GuptaPublished: Sat, 21 Oct 2023 01:07 PM (IST)Updated: Sat, 21 Oct 2023 03:01 PM (IST)
फलस्तीन के समर्थन में उतरीं महबूबा मुफ्ती, हाथों में झंडा लेकर सड़कों पर किया प्रदर्शन

जागरण संवाददाता, श्रीनगर। Jammu-Kashmir News:  इजरायल-हमास (Israel-Hamas War) के बीच 15वें दिन भी युद्ध जारी है। इजरायली सेना लगातार हमास के ठिकानों को निशाना बना रही है। इसी बीच पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti Protest in support of Palestine) ने फलस्तीन के समर्थन में उतरीं।

उन्होंने श्रीनगर में फलस्तीन के समर्थन में विरोध-प्रदर्शन किया। पीडीपी अध्यक्ष (PDP Chief) फलस्तीन का झंडा हाथों में लिए सड़कों पर प्रदर्शन करती हुई नजर आईं, हालांकि उन्होंने देश का झंडा उल्टा पकड़ा हुआ था।

गाजा अस्पताल पर इजरायल के हमले की भी निंदा की

वह फलस्तीन का झंडा लिए सड़क पर बैठ कर विरोध-प्रदर्शन कर रही थीं। उन्होंने इजरायल गो बैक के नारे लगाते हुए कहा कि फलस्तीन में 1500 बच्चे मारे गए हैं और पूरी दुनिया तमाशा देख रही है। अगर इजरायल को फलस्तीन पर जुल्म करने से नहीं रोका गया तो नतीजा खतरनाक होगा। पूरी दुनिया को इजरायल पर दबाव बना, जंगबंदी को लागू कराना चाहिए।

तख्तियों पर लिखे थे फलस्तीन समर्थक नारे

महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व में पीडीपी कार्यकर्ताओं ने आज यहां पार्टी मुख्यालय के बाहर फलस्तीन के समर्थन में धरना दिया। धरने पर बैठे पीडीपी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने इजरायल के खिलाफ और फलस्तीनियों के समर्थन में लिखे नारों वाले बैनर और तख्तियां भी उठा रखी थी।

' फलस्तीन में मारे गए 1500 बच्चे की मौत नजर नहीं आ रही'

गो बैक इजरायल गो बैक के नारेबाजी कर रहे प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इजरायल को गाजा पट्टी पूरी तरह से खाली करते हुए फलस्तनियों को उनका हक देना चाहिए। इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत में महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इजरायल-फलस्तीन के हालात अत्यंत गंभीर हैं। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया तमाशा देख रही है। किसी को फलस्तीन में 1500 बच्चों की मौत नजर नहीं आ रही है।

इजरायल की बमवारी में 1500 बच्चों की हुई मौत

मुफ्ती ने रूस-यूक्रेन युद्ध का जिक्र करते हुए कहा कि जब यूक्रेन में दो वर्ष के भीतर 500 बच्चे मारे गए तो पूरा विश्व चीखने लगा था। आज फलस्तीन में हजारों की संख्या में लोग मारे जा रहे हैं तो कोई बात नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि इजरायल की बमवारी में 1500 बच्चे मारे गए हैं । हम दुनिया भर के देशों से अपील करते हैं कि इजरायल पर दबाव बनाकर सीजफायर कराओ। उन्होंने कहा कि फलिस्तीन में अत्याचार हो रहा है।

'इजरायल का जुल्म बंद नहीं हुआ तो'...

वहां दवाएं बंद हैं, लोगों को खाना नहीं मिल रहा है, बिजली-पानी की सेवाएं बंद हो गई है, फिलिस्तान में लोगों के ऊपर गोलियां चल रही हैं, बमबारी हो रही है। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि होलाेकास्ट में जो यहूदियों के साथ हुआ, वही आज इजरायल फलस्तीनियों के साथ कर रहा है। अगर इजरायल का यह जुल्म बंद नही कराया गया तो इसके नतीजे बहुत खतरनाक होंगे।

'इजरायल के जालिमों फिलिस्तीन को खाली करो'

दुनिया में पहले से ही बहुत ज्यादा दहशतगर्दी है। ऐसे में नाइंसाफ होगा तो और भी ज्यादा लोग बंदूकें उठाएंगे। इससे दुनिया में और भी अधिक हालात खराब होंगे। इसलिए हम कहते हैं कि इजरायल के जालिमों फिलिस्तीन को खाली करो। महबूबा मुफ्ती ने इजरायल गो बैक के नारे भी लगाए। इस दौरान उनकी पार्टी के कई समर्थक मौजूद रहे और उन्होंने भी इजरायल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

यह भी पढ़ें-  Israel-Hamas War: 'गाजा को जीतने तक जारी रहेगी जंग', PM नेतन्याहू ने खाई कसम; अबतक 4,137 फलस्तीनियों की मौत

चार हजार से अधिक लोगों की हुई मौत

महबूबा मुफ्ती ने ये भी कहा कि इजरायल-फिलिस्तीन कोई मुस्लिम मुद्दा नहीं है। मुझे उम्मीद है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय जागेगा और इस मुद्दे का स्थायी समाधान करेगा ताकि हर दिन खून न बहाया जाए।

इस बीच गाजा पर इजरायल द्वारा की गई कार्रवाई में सैकड़ों बच्चों सहित करीब 4,137 नागरिक मारे गए हैं। जबकि दस लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। इसके अलावा 13,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

यह भी पढ़ें- गाजा में अस्पताल पर हुए Airstrike में 500 लोगों की मौत पर महबूबा मुफ्ती ने दुनिया के नेताओं को दी ये सलाह


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.