Move to Jagran APP

Jammu News: पुलिस मुख्यालय के गोपनीय दस्तावेज को किया वायरल, एक व्यक्ति गिरफ्तार

जम्मू (Jammu Police) के चन्नी हिम्मत पुलिस स्टेशन ने सरकारी गोपनीय दस्तावेज को उजागर करने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। चन्नी हिम्मत पुलिस स्टेशन को सूचना मिली थी कि पुलिस मुख्यालय के जारी गोपनीय दस्तावेज को व्हाट्सएप ग्रुप और अखबार में प्रसारित किया गया है। इसके बाद पुलिस ने एक्शन लेते हुए तरुण बहल को गिरफ्तार किया गया है।

By Agency Edited By: Deepak Saxena Wed, 10 Jul 2024 03:26 PM (IST)
पुलिस मुख्यालय के गोपनीय दस्तावेज को किया वायरल (सांकेतिक)।

पीटीआई, जम्मू। जम्मू के चन्नी हिम्मत पुलिस स्टेशन को सूचना मिली थी कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी एक गोपनीय दस्तावेज को व्हाट्सएप ग्रुप, द श्री टाइम्स और आसमान न्यूज पेपर में प्रसारित की जा रही है। इसके बाद पुलिस ने एक्शन लेते हुए सरकारी गोपनीयता अधिनियम के तहत एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

सरकारी गोपनीयता अधिनियम के तहत एक व्यक्ति गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि सरकारी गोपनीयता अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत यहां एक पुलिस स्टेशन में दर्ज मामले के सिलसिले में बुधवार को एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने एक बयान में कहा कि जम्मू के चन्नी हिम्मत पुलिस स्टेशन को विश्वसनीय स्रोतों से सूचना मिली कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी एक गुप्त दस्तावेज जिसमें सुरक्षा के संबंध में विवरण शामिल है।

व्हाट्सएप ग्रुप और न्यूज पेपर में प्रसारित की गई सूचना

व्हाट्सएप ग्रुप, 'द श्री टाइम्स' और 'आसमान न्यूज पेपर' में प्रसारित किया जा रहा है, जिसे तरुण बहल द्वारा गलत सूचना फैलाने के इरादे से चलाया जा रहा है। पुलिस ने कहा कि इस सूचना पर सरकारी गोपनीयता अधिनियम की धारा 3 और 5 और भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस) की धारा 49 (यदि उकसाने वाले कार्य के परिणामस्वरूप उकसाने की सजा और जहां सजा के लिए कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं किया गया है) और 353 (सार्वजनिक शरारत के लिए बयान) के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की गई और जांच शुरू की गई।

ये भी पढ़ें: Amarnath Yatra: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए भक्तों में गजब का उत्साह, पिछले साल से दोगुना श्रद्धालु पहुंच रहे अमरनाथ धाम

आरोपित को चार दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर

पुलिस ने अपने बयान में कहा कि जांच के दौरान तरुण बहल को गिरफ्तार कर लिया गया और चार दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया। साथ ही कहा गया है कि मामले की आगे की जांच जारी है। पुलिस ने मीडिया घरानों और व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन से भी आग्रह किया है कि वे ऐसी कोई भी जानकारी और दस्तावेज अपलोड या प्रसारित न करें जो "राष्ट्र की सुरक्षा और संप्रभुता को खतरे में डालते हों, अन्यथा गैर-जिम्मेदाराना काम करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें: Jammu Kashmir News: डोडा में फिर शुरू हुआ तलाशी अभियान, आतंकियों के ठिकानों का पता लगाने में जुटे सुरक्षाबल