Move to Jagran APP

Amarnath Yatra: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए भक्तों में गजब का उत्साह, पिछले साल से दोगुना श्रद्धालु पहुंच रहे अमरनाथ धाम

29 जून को शुरू हुई अमरनाथ यात्रा में श्रद्धालुओं का जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। यात्रा शुरू होने के सिर्फ 11 दिनों में ही दर्शन करने वाले भक्तों की संख्या 2 लाख पार हो गई है। मंगलवार को सुबह श्रद्धालुओं का 12वां जत्था रवाना हो गया। प्रशासन की ओर से भी अमरनाथ यात्रा में श्रद्धालुओं की सुविधाओं का खयाल रखा जा रहा है।

By Jagran News Edited By: Rajiv Mishra Wed, 10 Jul 2024 12:31 PM (IST)
अमरनाथ यात्रा के लिए 12वां जत्था रवाना (फाइल फोटो)

राज्य ब्यूरो, जम्मू। श्री अमरनाथ धाम की तीर्थ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का उत्साह इस बार देखने लायक है। पिछले वर्ष के मुकाबले में इस बार अब तक यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या दोगुने के करीब है। मंगलवार को 23,743 श्रद्धालुओं ने पवित्र गुफा के दर्शन किए।

इनमें 16,206 पुरुष, 5,372 महिलाएं, 140 बच्चे, 288 साधु, छह ट्रांसजेंडर, 1731 सुरक्षा कर्मी व विभिन्न सेवाएं देने वाले शामिल हैं। इन्हें मिलाकर 11 दिन में पवित्र गुफा के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा 2,30,759 पहुंच गया है।

श्रद्धालुओं का 12वां जत्था रवाना

पिछले वर्ष इस अवधि में करीब 1.25 लाख श्रद्धालुओं ने दर्शन किए थे। इस बीच, मंगलवार को तड़के जम्मू के यात्री निवास से 5,433 श्रद्धालुओं का 12वां जत्था पहलगाम और बालटाल के लिए रवाना हुआ। यह जत्था शाम को गंतव्य तक पहुंच गया।

जम्मू से पहलगाम मार्ग के लिए रवाना हुए 3,462 श्रद्धालुओं में 2,791 पुरुष, 571 महिलाएं, 17 बच्चे और 83 साधु शामिल रहे। वहीं, बालटाल मार्ग के लिए रवाना हुए 1,971 श्रद्धालुओं में 1,412 पुरुष, 546 महिलाएं, एक बच्चा और 12 साधु शामिल रहे।

यह भी पढ़ें- Amarnath Yatra 2024: अमरनाथ यात्रियों की सुविधा के लिए 15 तारीख से चलेगी स्पेशल ट्रेन, इन स्टेशनों पर होगा ठहराव

श्रद्धालुओं से मिले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने मंगलवार को यात्रा के आधार नुनवन और चंदनबाड़ी का दौरा कर यात्रा प्रबंधों का निरीक्षण किया। उपराज्यपाल ने श्रद्धालुओं से बातचीत की और यात्रा के प्रबंधों के बारे में पूछा। उपराज्यपाल ने विभिन्न सेवाएं देने वाले लोगों, डाक्टर, सफाई कर्मियों, प्रशासनिक और सुरक्षा अधिकारियों से बातचीत की।

साथ ही श्रद्धालुओं को ठहराने, लंगर, बिजली, पानी, साफ सफाई, स्वस्थ, ट्रैफिक, सुरक्षा प्रबंधों और अन्य सुविधाओं पर बातचीत की। उन्होंने संबंधित विभागों और पोनी, पालकी, पिट्ठू आदि की सेवाएं देने वाले लोगों को निर्देश दिए कि यात्रा को सुरक्षित और सुचारू बनाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएं।

अनंतनाग के डिप्टी कमिश्नर सैयद फखरुद्दीन हमीद ने उपराज्यपाल को आधार शिविरों में श्रद्धालुओं को दी जाने वाली सुविधाएं बारे में बताया। उपराज्यपाल के साथ उनके प्रमुख सचिव डॉ. मनदीप कुमार भंडारी भी थे।

यह भी पढ़ें- Amarnath Yatra 2024: फिर शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, गूंजे 'हर हर महादेव' के जयकारे; खराब मौसम के चलते कर दी गई थी बंद