Move to Jagran APP

भरमौर के कुगति में बादल फटा

हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के भरमौर में बादल फटने से काफी नुकसान होने की खबर है। मौसम विभाग ने प्रदेश के मैदानी व ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश की चेतावनी जारी की है।

By Edited By: Published: Mon, 04 Jul 2016 01:00 AM (IST)Updated: Mon, 04 Jul 2016 02:29 PM (IST)

जागरण टीम, शिमला। हिमाचल प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रो में लगातार भारी बारिश होने से लोगों की परेशानियां दिनोदिन बढ़ती जा रही हैं। चंबा जिला के जनजातीय उपमंडल भरमौर की ग्राम पंचायत कुगति मे शनिवार रात बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। मौसम विभाग ने सोमवार को प्रदेश के मैदानी व कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। प्रदेश मे नौ जुलाई तक बारिश का क्रम जारी रहेगा।

कुगति मे बादल फटने के कारण सात घराट व दो घरों को नुकसान पहुंचा है। नाले मे एकाएक पानी बढ़ने से दो छोटे पुल बह गए। इससे कार्तिक मंदिर मे करीब 20 श्रद्धालु फंस गए, जिन्हें रविवार सुबह पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद निकाला। बादल फटने से आई बाढ़ मे कई लोगों के खेत बह गए और सरकारी व वन विभाग की जमीन सहित पेड़ पौधों को भी नुकसान हुआ है।

पढ़ेंः चंमौली में बादल फटने से भारी नुकसान

शनिवार रात करीब एक बजे जोरदार आवाज के बाद धरती मे कंपन होने से गांव के लोग घरों से बाहर निकले। उन्होंने देखा कि निकटवर्ती नाले मे बाढ़ आई है। गनीमत रही कि रिहायशी क्षेत्र की ओर पानी नही आया। भरमौर के उपमंडल अधिकारी डॉ. जितेंद्र कंवर ने बताया कि नुकसान के आकलन के लिए टीम भेज दी गई है। रिपोर्ट आने के बाद ही क्षेत्र मे राहत राशि व अन्य निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। कुल्लू जिले मे मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग ढाई घंटे तक अवरुद्ध रहने से लोगो को परेशानी झेलनी पड़ी। कांगड़ा जिले मे ढेकवां की आयुर्वेदिक डिस्पेसरी मे पानी घुसने से दवाएं व अन्य सामान खराब हो गया।

जानिए, कब और कहां हुईं बादल फटने की घटनाएं

नगरोटा बगवां मे मकान पर पेड़ गिरने से नुकसान पहुंचा। प्रदेश के कई क्षेत्रो मे भारी बारिश होने से कई संपर्क मार्ग अवरुद्ध हुए है। सड़के कच्ची होने के कारण उनमे गड्ढे पड़ गए है। इससे सब्जी उत्पादको व बागवानो को अपने उत्पाद मंडी तक पहुंचाने मे दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा है। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों मे रविवार को बारिश हुई।

नाहन मे 57 मिलीमीटर, सुंदरनगर व धर्मशाला मे 44, पांवटा साहिब 39, खदराला 31, कुमारसैन 29, कसौली 20, सोलन 18 व मनाली मे 15 मिलीमीटर बारिश हुई। बारिश के कारण कई जगह अधिकतम तापमान मे भारी गिरावट दर्ज की गई है। इससे राज्य के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रो मे ठंड का अहसास हो रहा है। रविवार को प्रदेश का अधिकतम तापमान मंडी मे 32.8 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान कल्पा मे 13.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

कहां कितना रहा तापमान

स्थान न्यूनतम अधिकतम

शिमला 16.1 20.2

सुंदरनगर 22.3 25.4

कल्पा 13.0 20.0

भंुतर 20.5 28.0

धर्मशाला 15.8 28.0

ऊना 24.6 27.2

मंडी 21.6 32.8

नाहन 19.0 22.6

केलंग 16.8 27.8

सोलन 20.5 22.2

मनाली 15.0 21.0

(तापमान डिग्री सेल्सियस में)

संबंधित अन्य खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.