चंडीगढ़, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के मरीजों को लेकर हरियाणा और दिल्ली सरकार में टकराव बढ़ गया है। दिल्ली आवाजाही करने वाले लोगों की वजह से हरियाणा में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने का आरोप लगाते हुए मनोहर सरकार ने बुधवार को दिल्ली से सटी हरियाणा की सभी सीमाएं सील कर दी। हरियाणा सरकार ने कहा है कि दिल्‍ली से हरियाणा में आवाजाही के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी पास ही मान्‍य है। हरियाणा सरकार ने राज्‍य में आवाजाही के लिए दिल्‍ली सरकार के पास (Pass) अमान्‍य करार दिया है। हरियाणा का कहना है कि दिल्‍ली से आ र‍हे लोग हरियाणा में कोरोना वायरस के वाहक बन गए हैं।

सिर्फ केंद्र सरकार के जारी पास से ही सील बॉर्डर में मिल सकेगी एंट्री, दिल्ली सरकार के पास अमान्य

सोनीपत बार्डर हालांकि कई दिन पहले सील कर दिया गया था, लेकिन दिल्ली से लोगों की आवाजाही नहीं थमी तो अब गुरुग्राम व फरीदाबाद की सीमाएं भी सील करने के आदेश जारी हो चुके हैं। इन तीनों सीमाओं पर हरियाणा सरकार द्वारा अतिरिक्त सख्ती बरती जा रही है।

आज दोपहर १२ बजे तक दिल्ली में काम करने गए डॉक्टर, बैंककर्मी और पुलिस वालों की भी वापसी नहीं

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का खुला आरोप है कि दिल्ली में आने जाने वाले कर्मचारियों व आम लोगों की वजह से हरियाणा में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। करीब ढ़ाई हजार पुलिस वाले दिल्ली में ड्यूटी करते हैं। अकेले सोनीपत में २२ केस दिल्ली से संक्रमित होकर आए लोगों की वजह से बढ़े हैं। पानीपत जिले में इनकी संख्या चार है। फरीदाबाद व गुरुग्राम में भी यही स्थिति है। दिल्ली सरकार द्वारा धड़ाधड़ थोक के भाव पास जारी कर दिए जाने से ऐसे हालात बन रहे हैं। दिल्ली में काम करने वालों के वहीं पर ठहरने का इंतजाम करना चाहिए।

हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा द्वारा इस मामले में दिल्ली के मुख्य सचिव से भी बात की गई, मगर पास जारी होने बंद नहीं हुए। इसके बाद दिल्ली सरकार के वरिष्ठ मंत्री सत्येंद्र जैन ने विज का जवाब देते हुए कहा कि दिल्ली के काफी लोग गुरुग्राम व फरीदाबाद में काम करते हैं। वहां के लोगों द्वारा दिल्ली में संक्रमण फैलाने का इसी तरह का आरोप हम भी लगा सकते हैं। लिहाजा इन बातों में कुछ नहीं रखा है।

हरियाणा सरकार की सीमाएं सील, कहा सब्जी व दूध सरीखी जरूरी सेवाओं पर नहीं लगाई कोई रोक

दिल्ली व हरियाणा में टकराव बढ़ता देख बुधवार को हरियाणा सरकार ने नए आदेश जारी किए हैं। बुधवार दोपहर 12 बजे के बाद दिल्ली में काम करने वाले डॉक्टर, बैंक कर्मी और पुलिस वाले भी फरीदाबाद में एंट्री नहीं कर सकेंगे। सिर्फ केंद्र सरकार के जारी पास से ही सील बॉर्डर में एंट्री मिलेगी। यानी हरियाणा पुलिस दिल्ली सरकार के द्वारा जारी किसी पास को मान्य करार नहीं देगी। हरियाणा सरकार ने स्पष्ट कर दिया कि जरूरी सेवाओं में किसी तरह की रोक नहीं लगाई गई है। मसलन यदि दूध और सब्जी की सप्लाई होती है तो उसे रोका नहीं गया है, लेकिन इनकी सप्लाई में सावधान बेहद जरूरी है।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा, हम दिल्ली या आसपास के प्रदेशों से हरियाणा को संक्रमित नहीं होने देंगे, जिसके चलते बार्डर सील करने का फैसला लिया गया है। इस बीच दिल्ली से जुड़ी हरियाणा की सभी सीमाओं पर पूछताछ कड़ी हो गई है। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गुरुग्राम- दिल्ली के सभी बॉर्डर सील कर दिए गए। बॉर्डर सील होने के कारण कोई भी व्यक्ति या वाहन दिल्ली से गुरुग्राम की सीमा में प्रवेश नहीं कर सकता है।

उन्‍होंने कहा कि बॉर्डर सील होने से पिछले दो दिन से दिल्ली आजादपुर मंडी से सब्जी व फल की गुरुग्राम में सप्लाई नहीं हो रही है। इसके कारण फल विक्रेताओं को चिंता सता रही है। हरियाणा से दिल्ली फल या सब्जियां लेकर जा रहे लोगों को भी परेशानी उठानी पड़ रही है।

झज्जर को दिल्ली से जोड़ने वाले सभी कच्चे-पक्के रास्ते सील

झज्जर जिले की सीमा के साथ लगते दिल्ली आने जाने वाले कच्चे-पक्के रास्तों को भी बंद कर दिया है। डीआइजी अशोक कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए दिल्ली को जाने वाले प्रत्येक मार्ग की पहचान करके सील कर दिया है, ताकि अनावश्यक रूप से किसी भी व्यक्ति का आवागमन न हो सके। दिल्ली से जिले की तरफ आने वाले कच्चे-पक्के ऐसे 34 स्थानों की पहचान की गई है, जो मुख्य मार्गों के अतिरिक्त हैं। इन सभी को सील कर दिया गया है।

सोनीपत बॉर्डर पर पुलिस की सख्ती ज्यादा

सोनीपत में बढ़ा कोरोना का आंकड़ा चौंकाने वाला है। यहां दर्ज हुए 24 केस में 22 का सीधा-सीधा संबंध दिल्ली या दूसरे जिलों का है। ज्यादातर दिल्ली से संक्रमित होकर आए कर्मियों व लोगों ने संक्रमण बढ़ाया। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सोनीपत के डीसी डॉ. अंशज सिंह ने सोनीपत से दिल्ली की ओर जाने वाले सभी रास्ते सील करवा दिए हैं। कुंडली बॉर्डर और खरखौदा की ओर से औचंदी बॉर्डर को भी बैरिकेड कर दिया गया है। गांवों तक के रास्ते मंगलवार को बंद करवा दिए गए। अब पुलिस सरपंचों और पार्षदों से निगरानी में सहयोग मांग रही हैं।

फरीदाबाद से दिल्ली में घुसना मुश्किल

फरीदाबाद-दिल्ली में अब घुसना मुश्किल हो गया है। बॉर्डर पर फरीदाबाद और दिल्ली पुलिस का कड़ा पहरा लगा दिया गया है। कुछ चुनिंदा सेवाओं को छोड़कर किसी को भी आने-जाने की इजाजत नहीं दी जा रही। पुलिस पूरे दिन लोगों को बॉर्डर से फरीदाबाद और दिल्ली की ओर लौटाती रही। इस दौरान कई लोगों से कहासुनी भी होती रही। फरीदाबाद पुलिस ने अपील करते हुए कहा कि कि जब तक लॉकडाउन लागू है और सरकार की ओर से कोई गाइडलाइन जारी नहीं होती है, तब तक दिल्ली से फरीदाबाद और फरीदाबाद से दिल्ली न आएं जाएं।


यह भी पढ़ें: LTC व DA के बाद अब हरियाणा कर्मच‍ारियों के अन्‍य भत्‍तों में कटौती की तैयारी, सरकार का संकेत

 

यह भी पढ़ें: अकेले रह रहे 75 साल के बुजुर्ग ने फेसबुक पर लिखा- मेरा बर्थडे है, Cake संग पहुंची तो रो पड़े

 

यह भी पढ़ें: 66 साल पूर्व नंगल बना था भारत-चीन में 'पंचशील समझौता' का गवाह, मिले थे नेहरू व चाऊ

 

यह भी पढ़ें: आर्थिक संकट से निपटने को बड़ा कदम: हरियाणा में एक साल तक नई भर्ती पर रोक, कर्मचारियों की एलटीसी बंद

 

यह भी पढ़ें: अनिल विज ने कहा- दिल्‍ली के कर्मचारी हरियाणा में बने कोरोना वाहक, केजरी इस पर रोक लगाएं


 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस