Move to Jagran APP

आमिर खान नहीं 'गजनी' में Salman Khan थे मुरुगदास की पहली पसंद, विलेन की वजह से हाथ से फिसली ब्लॉकबस्टर फिल्म

आमिर खान और असिन स्टारर गजनी साल 2008 की सबसे बड़ी हिट फिल्म थी। फिल्म में निभाया आमिर खान का कैरेक्टर संजय सिंघानिया खूब पॉपुलर हुआ था। गजनी के लिए एक्टर ने मेहनत भी की थी। बॉडी बनाने के लिए उन्होंने जिम खूब पसीना भी बहाया था। हालांकि गजनी के लिए डायरेक्टर की पहली पसंद आमिर खान नहीं बल्कि सलमान खान थे।

By Vaishali Chandra Edited By: Vaishali Chandra Mon, 20 May 2024 03:30 PM (IST)
'गजनी' में सलमान खान थे मुरुगदास की पहली पसंद, (X Image)

एंटरटेनमेंट डेस्क, नई दिल्ली। साल 2008 में आई आमिर खान की फिल्म गजनी ने छप्परफाड़ कमाई की थी। ये बॉलीवुड की पहली फिल्म थी, जिसने 300 करोड़ क्लब में एंट्री की थी। साउथ के डायरेक्टर मुरुगदास गजनी को डायरेक्ट किया था। फिल्म में आमिर खान ने शानदार परफॉर्मेंस दी थी, लेकिन वो गजनी के लिए मुरुगदास की पहली पसंद नहीं थे, बल्कि फिल्म के विलेन की वजह से उन्हें ये ब्लॉकबस्टर मूवी मिली थी।

गजनी, 2005 में आई इसी नाम की साउथ फिल्म का हिंदी रीमेक थी। दोनों ही फिल्मों को मुरुगदास ने डायरेक्ट किया था।

यह भी पढ़ें- 'एक सिगरेट से दूसरी फिर तीसरी...', 'कोयला' के सेट पर Shah Rukh Khan की ये हरकत देख दंग रह गए थे प्रदीप रावत

सलमान खान होते गजनी के हीरो

मुरुगदास, साउथ में सुपरहिट फिल्म देने के बाद इसका हिंदी रीमेक बनाना चाहते थे। ऐसे में वो फिल्म में बतौर लीड एक्टर सलमान खान को लेना चाहते थे, लेकिन गजनी के विलेन यानी प्रदीप रावत ने उन्हें आमिर खान को लेने की सलाह दी। तमिल और हिंदी दोनों वर्जन नें प्रदीप रावत ने विलेन का किरदार निभाया था। उन्होंने हाल ही में सिद्धार्थ कानन के साथ बातचीत में खुलासा किया कि गजनी में आमिर खान की जगह डायरेक्टर सलमान खान को लेना चाहते थे।

प्रदीप रावत ने दी आमिर को लेने की सलाह

प्रदीप रावत ने बात करते हुए कहा कि सलमान खान गजनी के लिए फिट क्यों नहीं थे। उन्होंने कहा, "एआर मुरुगादास कहते रहते थे 'मैं इसे (गजनी) हिंदी में बनाना चाहता हूं, मैं इसे हिंदी में बनाना चाहता हूं...' मैंने मन में सोचा 'सलमान गुस्सैल हैं और मुरुगादास इंग्लिश या हिंदी में बात नहीं करते हैं, तब तो उनकी कोई पर्सनैलिटी भी नहीं थी।''

यह भी पढ़ें-  Shah Rukh Khan: 'टाइगर' के बाद 'जवान' भी आया आगे, लोकसभा चुनाव को लेकर शाह रुख खान ने किया ये पोस्ट

क्यों आमिर लगे सलमान से बेहतर ?

आमिर खान के साथ प्रदीप रावत पहले फिल्म सरफरोश (1999) में काम कर चुके थे। ऐसे में एक्टर के शांत नेचर की वजह से उन्होंने गजनी में आमिर को लेने के लिए कहा। प्रदीप रावत ने कहा, ""मुझे लगा कि आमिर इस किरदार के लिए सही होंगे, क्योंकि वो शांत स्वभाव के हैं और सभी के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार करते हैं। पिछले 25 सालों में मैंने आमिर को किसी पर चिल्लाते या चीखते नहीं देखा। उन्होंने कभी किसी का अपमान नहीं किया या अभद्र भाषा का प्रयोग नहीं किया। इसलिए मैंने सोचा सलमान को संभाला नहीं जा सकता। शूटिंग में बिना मतलब परेशानी बढ़ेगी।''