देहरादून, राज्य ब्यूरो। कांग्रेस में लोकसभा चुनाव में टिकट के तलबगारों को अब अग्नि परीक्षा देनी होगी। देहरादून में 16 मार्च को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की जनसभा के बहाने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी में जुटी पार्टी ने टिकट के दावेदारों पर सभा को कामयाब बनाने की जिम्मेदारी सौंप दी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष की चुनावी सभा के माध्यम से प्रदेशभर में कार्यकर्ताओं में जोश फूंका जाएगा। 

प्रदेश की पांच लोकसभा सीटों पर बड़ी संख्या में पार्टी नेताओं ने दावेदारी पेश की है। टिकट पाने की कतार में युवाओं से लेकर अनुभवी व वरिष्ठ नेता शामिल हैं। अब इन दावेदारों की जनता के बीच पैठ को परखने की तैयारी है। जो इसमें कामयाब होगा, टिकट पर उसकी दावेदारी मजबूत मानी जा सकेगी। 

प्रदेश कांग्रेस संगठन लोकसभा चुनाव को लेकर खासी सतर्कता बरत रहा है। उत्तराखंड में कांग्रेस का आधार मजबूत रहा है, लेकिन वर्ष 2014 में लोकसभा की पांचों सीटें कांग्रेस से छीनने में भाजपा को सफलता मिली, लेकिन कांग्रेस अब भाजपा को चुनौती देने के मूड में है। 

इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं के रूप में मैदान से लेकर पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ी फौज को मुस्तैद करना चाहती है। खासतौर पर भाजपा की बढ़ती सक्रियता को देखते हुए कांग्रेस भी अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने पर जोर दे रही है। इसे ध्यान में रखकर ही प्रदेश कांग्रेस संगठन और विभिन्न पदाधिकारियों की ओर से राहुल का दौरा जल्द कराने की मांग की जा रही थी। अब राहुल गांधी का दौरा तय होने से पार्टी नेताओं के साथ कार्यकर्ताओं का मनोबल और उत्साह बढ़ सकेगा। 

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई। बैठक में राहुल गांधी की सभा की तैयारियों पर चर्चा की गई। बैठक में मौजूद देहरादून और हरिद्वार के वरिष्ठ नेताओं और टिकट के दावेदारों को सभा को कामयाब बनाने का जिम्मा दिया गया। 

बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल की जनसभा का कार्यकर्ताओं को बेसब्री से इंतजार है। कार्यकर्ता राफेल विमान सौदे का सच, सैन्य बलों के पराक्रम का सरकार की ओर से किए गए दुरुपयोग, किसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी के बारे में सच राहुल गांधी से सुनना चाहते हैं। 

बैठक का संचालन प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने किया। बैठक में पूर्व मंत्री नवप्रभात, हीरा सिंह बिष्ट, विधायक ममता राकेश व फुरकान अहमद, पूर्व विधायक राजकुमार, हरिद्वार की मेयर अनीता शर्मा, संजय पालीवाल, अंबरीष कुमार, ताहिर अली, विकास नेगी, मोहन भंडारी समेत कई नेता मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: जब मंच पर सीट नहीं मिली तो नाराज होकर चले गए महापौर और विधायक

यह भी पढ़ें: युवा उत्तराखंड कार्यक्रम में बोले सीएम, 23 माह में तीन लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार

यह भी पढ़ें: दावेदारों में टिकट की जोर आजमाइश के बीच भाजपा की काट में जुटी कांग्रेस

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप