देहरादून, रविंद्र बड़थ्वाल। लोकसभा के चुनावी महासमर में कांग्रेसी स्टार प्रचारकों की फेहरिश्त इस बार कुछ अलहदा रंग में नजर आएगी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बीती 16 मार्च को देहरादून में रैली के बाद अब उन्हें कुमाऊं मंडल में हल्द्वानी और फिर श्रीनगर गढ़वाल में लाने की तैयारी कांग्रेस कर रही है। इन तारीखों का जल्द तय किया जाएगा, लेकिन कांग्रेसियों खासकर युवाओं को जिस स्टार प्रचारक का बेसब्री से इंतजार है, वह हैं प्रियंका गांधी।

जनसभाओं से इंतर प्रियंका के प्रति कार्यकर्ताओं के जोश को देखते हुए गढ़वाल और कुमाऊं, दोनों मंडलों में एक-एक रोड शो आयोजित करने की तैयारी है। प्रियंका को भाजपा के स्टार प्रचारकों के जवाब में चुनावी मैदान में उतारने की तैयारी है। राहुल-प्रियंका के अतिरिक्त कांग्रेस के अन्य कई स्टार प्रचारक चुनाव के दौरा उत्तराखंड का रुख करेंगे। 

वर्ष 2014 से पहले यानी मोदी लहर से पहले उत्तराखंड की पांचों सीटों पर काबिज रही कांग्रेस पुरानी स्थिति में लौटने के लिए हाथ-पांव मार रही है। वर्ष 2014 की तरह 2019 में भी कांग्रेस के सामने सबसे बड़ी चुनौती मोदी लहर ही है। इस लहर को थामने के लिए एक बार फिर स्टार प्रचारकों पर बड़ा दारोमदार रहने वाला है। 

प्रदेश कांग्रेस को एआइसीसी की ओर से जारी होने वाली स्टार प्रचारकों की सूची का बेसब्री से इंतजार है। राज्य के कांग्रेसजनों के स्टार प्रचारकों की फेहरिश्त में सबसे ऊपर राहुल गांधी ही हैं तो फिर उनके बाद प्रियंका गांधी को बुलाने पर जोर दिया जा रहा है। 

दून में राहुल की रैली के बाद उत्तराखंड के अलग-अलग स्थानों पर उनके और कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं। कांग्रेस रणनीतिकारों की मानें तो उत्तराखंड में भी युवाओं को लुभाने के लिए प्रियंका को आगे लाया जा सकता है। इसके लिए दोनों मंडलों में उनके रोड शो आयोजित किए जाएंगे। एक रोड शो देहरादून जिले में तो दूसरा नैनीताल संसदीय क्षेत्र में आयोजित करने पर विचार हो रहा है।

समुदाय के बड़े नेता संभालेंगे प्रचार

इसके अलावा कांग्रेस स्टार प्रचारकों में नवजोत सिंह सिद्धू की मांग भी की जा रही है। आक्रामक प्रचार के लिए जाने जा रहे सिद्धू को लेकर कांग्रेस के एक तबके में हिचक भी है। ये तबका उनके खिलाफ बने माहौल का हवाला भी दे रहा है। बावजूद इसके सिद्धू को बुलाने की मांग कई क्षेत्रों से उठी है। 

राज्य के तराई हिस्से में सिख आबादी को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को प्रचार के लिए बुलाया जा सकता है। वहीं हरिद्वार जिले व अन्य इलाकों में अल्पसंख्यक आबादी को लुभाने के लिए गुलाम नबी आजाद, सलमान खुर्शीद को बतौर स्टार प्रचारक बुलाया जा सकता है। 

पार्टी ने यह तकरीबन तय कर लिया है कि राज्य के भीतर क्षेत्रवार मतदाताओं के वर्गों को देखते हुए संबंधित वर्गों से जुड़े बड़े नेताओं को बतौर स्टार चुनाव प्रचार मुहिम में उतारा जाएगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि स्टार प्रचारकों की सूची को कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी तय होने के बाद अंतिम रूप दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में तीन सीटों पर उलझी कांग्रेस के प्रत्याशियों की घोषणा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में भाजपा के टिकट फाइनल, केंद्रीय नेतृत्व से एलान होना बाकी

यह भी पढ़ें: चुनाव से ऐन पहले बांटे थे दायित्व, अब दायित्वधारियों के कौशल की होगी परीक्षा

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप