कानपुर, जेएनएन। भाजपा से उनका कोई लेना-देना नहीं है। यहां कौन नेता हैं और कौन प्रत्याशी? ये भी नहीं मालूम। सिर्फ पता पूछते-पूछते भाजपा कार्यालय पहुंच गईं। यह अप्रवासी भारतीय मंजरी गंगवार हैं, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रचार करने अमेरिका से आई हैं। वजह यही बताती हैं कि मोदी ने विदेश में भी भारत की छवि बदल दी।

मंगलवार को नवीन मार्केट स्थित भाजपा कार्यालय पहुंचीं मंजरी गंगवार ने बताया कि उनके पिता एटा के पास पटियाली इंटर कॉलेज में शिक्षक थे। सेवानिवृत्त होकर कानपुर में बस गए। कम्प्यूटर साइंस में स्नातक के बाद करीब 21 वर्ष पहले वह अमेरिका में जाकर बस गईं। अब वहां निजी क्षेत्र में नौकरी करती हैं। मंजरी ने बताया कि राजनीति से उनका या परिवार का कभी कोई संबंध नहीं रहा लेकिन नरेंद्र मोदी जब से प्रधानमंत्री बने हैं, तब से अमेरिका में भी भारत का सम्मान बढ़ता महसूस हुआ।

पुलवामा हमले के बाद जो एयर स्ट्राइक की गई, उससे भारत दब्बू देश की छवि से बाहर निकला। मंजरी कहती हैं कि प्रधानमंत्री की सभी योजनाएं सराही जा रही हैं। इससे प्रभावित अप्रवासी भारतीयों ने 'एनआरआर फॉर नमोज' ग्रुप बनाया है। हाल ही में तेलंगाना में लगातार मतदाताओं को फोन कर भाजपा के लिए वोट मांगे। 150 एनआरआइ छुट्टी लेकर भारत में मोदी का प्रचार करने आए हैं। 

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By: Abhishek