रेवाड़ी [महेश कुमार वैद्य]। दिल्ली से सटे हरियाणा राज्य में दोबारा भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में भाजपा-जननायक जनता पार्टी की सरकार बनी है। रविवार को दीपावली के शुभ दिन दोपहर में चंडीगढ़ में एक सादे समारोह में मनोहर लाल खट्टर ने बतौर मुख्यमंत्री तो जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला ने बतौर उपमुख्यमंत्री की शपथ ली। 

शपथ ग्रहण समारोह से पहले खबर आई कि भाजपा व जेजेपी के भीतर नामों को लेकर तकरार के बीच अंतिम समय में बदलाव हुआ। ऐसे में तय किया गया कि अब बतौर मुख्यमंत्री मनोहर लाल व बतौर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ही शपथ लेंगे और फिर हुआ भी ऐसा ही। यह भी जानकारी सामने आई कि शपथ लेने वाले सभी मंत्रियों के लिए गाड़ियां भी बुला ली गई थीं, लेकिन आखिर समय में बड़ा बदलाव हुआ।

बताया जा रहा है कि आगामी कुछ दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा, जिसमें आपसी विवादों को दूर कर दोनों दलों के विधायकों को मंत्रिमंडल में समुचित जगह दी जाएगी।

शनिवार शाम से इस तरह की खबर आ रही थी कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला सहित कुल 9 मंत्री शपथ ले सकते हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अलावा भाजपा से अनिल विज, डॉ. बनवारी लाल व सीमा त्रिखा के मंत्री बनने की संभावना थी।

इसके अलावा, जेजेपी से राम कुमार गौतम और ईश्वर सिंह को मंत्री पद की शपथ दिलाने की बात सामने आ रही थी। इनके अलावा निर्दलीय रंजीत सिंह चौटाला, भाजपा विधायक हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह का नाम आगे चल रहा था। घनश्याम शर्राफ, डॉ कमल गुप्ता, सुभाष सुधा और दीपक मंगला में से एक या दो की लॉटरी खुलने की बात सामने आ रही थी।

यह भी जानकारी सामने आ रही है कि आगामी कुछ दिनों में  होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा के चुनाव जीतने वाले चार जाट विधायकों महीपाल ढांडा, प्रवीण डागर, कमलेश ढांडा और जेपी दलाल में से किसी एक या दो को मंत्री पद दिया जा सकता है। अनुसूचित जाति से बिशंभर वाल्मीकि व पिछड़ा वर्ग से अभय सिंह यादव या राम कुमार कश्यप को मंत्री बनाया जा सकता है।

संभावित मंत्री

  • अनिल विज
  • कंवरपाल गुजर
  • बनवारी लाल
  • कमल गुप्ता
  • महीपाल ढांडा
  • बलराज कुण्डु, निर्दलीय
  • रणजीत सिंह चौटाला, निर्दलीय विधायक
  • रामकुमार गौतम- जेजेपी
  • ईश्वरसिह, जेजेपी
  • संदीप सिंह
  • दीपक मंगला व सीमा त्रिखा में से किसी एक की लाटरी खुलेगी

गौरतलब है कि हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों में से 40 सीटें हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी बहुमत से 6 सीटें पीछे रही है। ऐसे में भाजपा को 9 विधायकों के साथ जननायक जनता पार्टी के 10 विधायकों का भी समर्थन हासिल है। इस तरह हरियाणा की 90 विधानसभा में भाजपा को 59 विधायकों का समर्थन हासिल है। कुल मिलाकर 59 का आकड़ा सदन में बहुमत से 13 ज्यादा है।

हरियाणा चुनाव में केंद्रीय मंत्री को झटका, प्रतिष्ठा से जुड़ी रेवाड़ी सीट गंवाई; लालू यादव के दामाद पड़े भारी

'नेताजी' की हार बर्दास्त नहीं कर पाया तो समर्थक ने उठाया ऐसा कदम कि पहुंच गया अस्पताल

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप