नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली विधानसभा चुनाव (delhi vidhan sabha election 2020) जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे बयानबाजी तेज हो रही है। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता करके मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली में दिल्ली ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (Delhi Transport Corporation) यानी डीटीसी की स्थिति दयनीय हो गई है।

विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि आरटीआइ से मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली में साल 2014 में 574 रूट थे जो इस वर्ष घटकर 442 रह गए हैं। दिल्ली सरकार ने 132 रूट बंद कर दिए। सवारियों की संख्या 2014 में प्रतिवर्ष 129 करोड़ थी जो इसवर्ष 109 करोड़ रह गई है। इस तरह से प्रतिवर्ष 20 करोड़ यात्री कम हो गए हैं।

बसों की संख्या पहले की तुलना में कम हुई

भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि बसों की संख्या पांच हजार से कम होकर साढ़े तीन हजार रह गई है।

छह डिपो से 80 बसें निकालकर बचाउकला डिपो में भेज दी गईं, वहां कार्यक्रम करके दिल्ली सरकार के मंत्री ने नई बसें आने का दावा किया था।

कई रूट पर बसों के फेरे कम हुए

विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि कई रूट पर बसों के फेरे कम कर दिए गए। रोजाना कुल 640 फेरे कम किए गए। भाजपा कार्यकर्ता इसके विरोध में प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि चार साल में दस हजार बसें खरीदने का दावा किया था लेकिन बसों की संख्या लगातार कम हो रही है। भाजपा नेता ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण की समस्या दूर करने के लिए सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करना होगा।

मनोज तिवारी ने भी लगाया था आरोप

यह पहली बार नहीं है जब किसी नेता ने दिल्ली की सार्वजनिक परिवहन प्रणाली पर सवाल उठाया हो। इससे पहले जुलाई 2018 में मनोज तिवारी ने भी सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को बदहाल करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि अगर केजरीवाल सरकार का यही रवैया रहा तो डीटीसी बसों की हालत और खराब हो जाएगी। उन्होंने कहा था कि इसकी वजह से दिल्ली में प्राइवेट बसों की सख्या लगातार बढ़ रही है।

ये भी पढ़ेंः Delhi Election 2020ः अनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को North MCD ने दी बड़ी राहत

 दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप