नई दिल्ली [नेमिष हेमंत]। तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों समेत कुछ अन्य मामलों को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। उसकी ओर से मौजूदा केंद्र सरकार की लोकप्रियता गिराने को लेकर एड़ी-चोटी का जोर लगाया जा रहा है, पर उनकी ये कोशिशें वर्ष 2024 में होने वाले आम चुनाव में भी सफल नहीं होने वाली है। देश के प्रसिद्ध ज्योतिषज्ञ के. रंगाचारी ने भविष्यवाणी की है कि अगले चुनाव में भी नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की संभावना अधिक है।

भारतीय लोक प्रशासन संस्थान (आइआइपीए) में चले रहे भारतीय ज्योतिष विज्ञान परिषद (आइकास) के दो दिवसीय राष्ट्रीय कान्फ्रेंस में उन्होंने ज्योतिष गणना के अनुसार आगे भी नरेन्द्र मोदी का भाग्य प्रबल रहने की भविष्यवाणी की। उन्होंने यह भविष्यवाणी प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से लेकर मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कुंडली पर व्यापक शोध के बाद की है। उन्होंने कहा कि सभी प्रधानमंत्री की कुंडली में एक बात स्पष्ट रूप से देखने को मिली कि जिनकी कुंडली के छठे घर का स्वामी ग्रह उच्च होने के साथ दशमेश व लग्नेश के साथ त्रिकोण में था या शुभ ग्रह की दृष्टि में या उसके साथ था तो उन्होंने अपना कार्यकाल बेहतर तरीके से पूरा किया। उन्हें जनता का भरोसा भी मिला।

वहीं, जिनकी कुंडली में इसका अभाव दिखा, उनकी सरकार अल्पमत में आ गई और उन्होंने जनता का भरोसा भी खो दिया। उन्होंने इसके लिए पूर्व प्रधानमंत्री आइके गुजराल व एचडी देवगौड़ा की सरकार का हवाला दिया, जबकि मजबूत पीएम के रूप में जवाहर लाल नेहरू के साथ नरेन्द्र मोदी का हवाला दिया।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में निगम चुनाव से पहले भाजपा को तगड़ा झटका, समर्थकों के साथ तीन नेता AAP में शामिल


उन्होंने दावा किया कि मौजूदा प्रधानमंत्री की यह दमदार स्थिति वर्ष 2024 के बाद भी रहेगी। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना के कारण मुश्किलों से बाहर निकलने की कोशिशों में जुटी देश की अर्थव्यवस्था के भी पटरी पर आने की भविष्यवाणी की है।

यह भी पढ़ेंः Rakesh Tikait के खिलाफ महिलाओं का फूटा गुस्सा, यूपी गेट के पास रहने वाले लोगों ने खोला मोर्चा

बता दें कि कान्फ्रेंस में देशभर से 100 से अधिक ज्योतिषज्ञ व ज्योतिष के छात्र जुटे रहे। आइकास के अध्यक्ष एबी शुक्ला व आइआइपीए के महानिदेशक सुरेंद्र नाथ त्रिपाठी समेत अन्य ने सम्मेलन को संबोधित किया। इस सम्मेलन में ज्योतिष के वैज्ञानिक तरीके से हुए शोध रखे गए। संचालन आइकास के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रदीप चतुर्वेदी ने किया।

यह भी जानें

  • वर्तमान में विश्व के सबसे लोकप्रिय राजनेताओं में शुमार नरेन्द्र मोदी का जन्म वडनगर के एक गुजराती परिवार में हुआ।
  • नरेन्द्र मोदी ने का बचपन बेहद संघर्ष भरा रहा है। बचपन में चाय बेचने में अपने पिता की मदद की और बाद में अपना खुद का स्टाल भी चलाया।
  • अक्टूबर 2001 से मई 2014 तक लंबे समय तक गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में अपना पद संभाला है।
  • नरेन्द्र मोदी ने 30 मई, 2019 को दूसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली।
  • मात्र 8 साल की उम्र में ही नरेन्द्र मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संपर्क में आए। कहा जाता है कि वर्ष 1970 महज 20 साल की उम्र में वह आरएसएस से इतना कदर प्रभावित हुए कि पूरी तरह से आरएसएस प्रचारक बन गए। एक साल बाद 1971 में नरेन्द्र मोदी औपचारिक रूप से आरएसएस में शामिल हो गए।
  • 23 मई को नरेंद्र मोदी एक बार फिर वाराणसी (उत्तर प्रदेश) से सांसद चुने गए। इसके बाद भारत का प्रधानमंत्री चुना गया।
  • नरेन्द्र मोदी 14वें और भारत के वर्तमान प्रधान मंत्री के रूप में चुने गए। नरेन्द्र मोदी ने 26 मई 2014 को भारत के प्रधान मंत्री के रूप में शपथ ली थी। वह ब्रिटिश साम्राज्य से भारत की आजादी के बाद पैदा हुए पहले प्रधान मंत्री बने।

Delhi Weather News: कड़ाके की ठंड के लिए हो जाएं तैयार, जानिये- कब कोहरा करेगा परेशान

Kisan Andolan: राकेश टिकैत ने 24 घंटे के भीतर केंद्र सरकार को दी दूसरी धमकी, कहा - 'गलतफहमी में न रहें'

सिख फार जस्टिस संगठन ने दी खालिस्तानी झंडा फहराने की धमकी, दिल्ली में जारी हुआ हाई अलर्ट

Coronavirus Guidelines: आरटीपीसीआर रिपोर्ट आने तक रहना होगा दिल्ली एयरपोर्ट पर, सर्कलुर जारी


Edited By: Jp Yadav