नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। पहाड़ों राज्यों में शुमार हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ केंद्र शासित राज्य जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में शीतलहर जारी है। इस बीच लद्दाख और जम्मु-कश्मीर में बर्फबारी भी तेज होने वाली है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, दिसंबर के दूसरे सप्ताह की शुरुआत जोर दार ठंड से हो सकती है। इसके साथ ही आने वाले में कड़ाके की ठंड के साथ कोहरा भी लोगों को परेशान कर सकता है। दरअसल, पश्चिमी विक्षोभ के चलते 5 और 6 दिसंबर को दिल्ली-एनसीआर में ठीकठाक बारिश होने के अनुमान है, इसके बाद शीत लहर की शुरुआत होने के साथ कोहरा भी अपना असर दिखाना शुरू करेगा। इस बार आगामी 3 महीनों तक कड़ाके की ठंड पड़ने का पूर्वानुमान है।

मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि इस बार दिसंबर, जनवरी और फरवरी महीने में कड़ाके की ठंड पड़ेगी और आने वाले दिनों में तापमान में भी तेजी से गिरावट दर्ज की जाएगी। ठंड का असर दिल्ली-एनसीआर समेत समूचे उत्तर भारत में नजर आएगा। मौसम वैज्ञानिक पहले ही पूर्वानुमान जता चुके हैं कि दिसंबर महीने से न्यूनतम पारे में कमी के साथ शुरू होने वाली ठंड अगले साल फरवरी 2022 तक जोरदार लोगों को परेशान करेगी। वहीं, दिसंबर के पहले या फिर दूसरे पखवाड़े से कोहरा भी परेशान करने लगेगा। सोमवार सुबह ही दिल्ली-एसीआर के कई इलाकों में पड़े कोहरे ने वाहन चालकों को परेशान किया। खासतौर से ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद, गुरुग्राम, हापुड़, सोनीपत में कोहरा दिक्कत करने लगा है।

ठंड के वायु प्रदूषण बढ़ाएगा दिल्ली-एनसीआर के लोगों की परेशानी

मौसम विभाग अगले तीन महीने तक यानी दिसंबर से फरवरी तक दिल्ली-एनसीआर में जोरदार सर्दी पड़ेगी। इसकी वजह से प्रदूषण में भी इजाफा होगा। बीच-बीच में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय नहीं हुआ्र तो इस साल सर्दी की वजह से सांस लेने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विभाग ने अगले तीन महीने तक सावधान रहने के लिए चेताया है।

अगले कुछ घंटों में वायु प्रदूषण से मिल सकती है राहत

सफर इंडिया का पुर्वानुमान है कि सोमवार से हवा की रफ्तार में कुछ इजाफा होगा। इसके असर से दिल्ली में भी वायु गुणवत्ता का स्तर गंभीर से बहुत खराब श्रेणी में आ सकता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार रविवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 405 रहा। एनसीआर में फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 412, गाजियाबाद का 353, ग्रेटर नोएडा का 346, गुरुग्राम का 372 और नोएडा का 362 दर्ज किया गया।

दिल्ली के पीएम 2.5 के स्तर में पराली के धुएं का असर तीन प्रतिशत रहा। रविवार को दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 211 जबकि पीएम 10 का स्तर 353 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को सफदरजंग और पालम दोनों एयरपोर्ट पर हवा की गति बहुत कम रही। बीच बीच में हवाओं की रफ्तार शांत से धीमी होती रही। हवा की दिशा पश्चिम से उत्तर-उत्तर-पश्चिम दिशा की रही।

Edited By: Jp Yadav