नई दिल्ली [रीतिका मिश्रा]। Rapper Muhfaad: सिने जगत में आजकल हिप हॉप म्यूजिक युवाओं को खूब रास आ रहा है। इसे गाने के लिए आज एक से एक प्रतिभावान रैपर्स सामने भी आ रहे हैं। एक समय था जब रैपिंग के लिए सिर्फ रफ्तार, बादशाह या हनी सिंह का ही नाम सुनने को मिलता था। अब इस सूची में राजधानी दिल्ली के हरी नगर के रहने वाले 26 वर्षीय युवा गौरव का नाम भी शामिल हो गया है। गौरव ने साल 2012 में पढ़ाई बीच में ही छोड़ने के बाद अपना पूरा समय संगीत के लिए समर्पित कर दिया और रैपिंग में ही करियर बनाया। गौरव को सिने जगत में सभी 'मुंहफाड़' नाम से जानते हैं। उन्होंने कई हिट गाने भी दिए हैं।

बीच में ही छोड़ी थी पढ़ाई

गौरव की प्राथमिक शिक्षा करोगबाग स्थित राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय से हुई है। उन्होंने कक्षा 11वीं में पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी।  इसके बाद राजेंद्र नगर स्थित पूसा पॉलीटेक्निक से इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान उनका पढ़ाई में मन नहीं लगा, लेकिन संगीत के प्रति रुझान बढ़ने लगा तो वह कॉलेज के रॉकबैंड ग्रुप में जाने लगे। फिर उन्होंने इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष में बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी। कॉलेज से निकलने के बाद उन्होंने अपने दोस्त के एक बैंड के साथ काम किया। वहां संगीत से जुड़ी कई बारीकियां सीखीं।

रैप से मिलती खुशी

गौरव बताते हैं कि उन्होंने अपने करियर के आठ साल संगीत को ही दिए हैं। शुरुआती दिनों में उन्होंने कई-कई घंटे संगीत मिक्स करके, गाने लिख-लिखकर मेहनत की है। यही वजह है कि वो बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं। उनके मुताबिक उन्हें रैप करके बहुत खुशी मिलती इसलिए वह आगे भी संगीत से ही जुड़े रहना चाहते हैं। वो अंग्रेजी, हिंदी, पंजाबी, और हरियाणवी भाषाओं में रैप करते हैं। गौरव ने साल 2016 में 'सच टू मच' रैप से हिप हॉप इंडस्ट्री में डेब्यू (शुरुआत) किया था।

हर-हर गंगे को चार मिलियन से ज्यादा लोगों ने सुना

गौरव ने साल 2017 में अपना पहला यू्ट्यूब चैनल बनाया था, जिसमें उन्होंने सबसे पहले हैप्पी दिवाला गाना अपलोड किया है। उनके यूट्यूब चैनल में अभी 29 से ज्यादा वीडियो अपलोड किए गए है। वहीं, यूट्यूब के जरिए उनके रैप न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों में भी सुने जा रहे हैं। उनके द्वारा गाए गए रैप हर-हर गंगे को चार मिलियन से भी ज्यादा लोग देख चुके हैं। उनके द्वारा रैप किया गया मोक्ष गाना युवाओं को बहुत पसंद आया। उसे दो मिलियन से ज्यादा लोगों ने देखा है। वहीं, पहली फुरसत में निकल, टेम्पो, हैप्पी दिवाला रावन, बिच आइ एम अ डॉग और मोक्ष, दशहरा, भूत बनेगा रैप को एक मिलियन ने ज्यादा लोगों ने सुना है।

2018 में सारे करो डैब से मिली प्रसिद्धि

गौरव ने साल 2018 में सोनू कक्कड़ और रफ्तार के साथ मिलकर रैप गाना सारे करो डैब से प्रसिद्धि मिली। इस गाने के बोल उन्होंने खुद ही लिखे हैं। उनके इस रैप को यूट्यूब पर 30 मिलियन से भी ज्यादा लोग देख चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने रैपर बिलाल सईद के साथ गाना हुक्का-हुक्का भी रैप किया है। जिसे 21 मिलियन से ज्यादा लोगों ने देखा है।

मुंहफाड़ नाम की कहानी

गौरव बताते हैं कि आजकल जो सुनने में अटपटा लगता है वहीं लोगो को बाद में लुभाता है। उनके मुताबिक वो ऐसा नाम रखना चाहते थे जो जिससे उनका किरदार दमदार लगे। उन्होंने फिर काफी सोच-विचार करने के बाद मुंहफाड़ नाम रखा। वो बताते हैं कि इसका मतलब है जोरदार तरीके से अपनी बात रखना। पिता है शिक्षक, माता गृहणी:गौरव के पिता संतराम दिल्ली के सुभाष नगर स्थित सरकारी स्कूल सर्वोदय बाल विद्यालय में शिक्षक के तौर पर कार्यरत हैं। इसके साथ ही वह राजकीय विद्यालय शिक्षक संघ (जीएसटीए) के वेस्ट ए-1 से जिला सचिव भी हैं। वहीं, उनकी माता गृहणी हैं।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

Edited By: JP Yadav