नई दिल्ली [जेएनएन]। रमजान के पाक महीने को लेकर पुरानी दिल्ली के बाजारों में रौनक दिखनेे लगी है। मटिया महल बाजार में झालर और लाइटें लगाने का काम जारी है। कुछ एक जगहों पर यह काम पूरा भी हो चुका है। मसलन, जामा मस्जिद के गेट नंबर एक के आसपास की जगहों पर लाइटें लग चुकी हैं। इलाके में रोशनी के पर्याप्त इंतजाम के लिए रंग-बिरंगी झालर वाली लाइट लगाई जा रही है, जिसकी खूबसूरती रात को देखते ही बनती है।

गुलजार हैं बाजार 

मीना बाजार और चितली कब्र ग्राहकों से गुलजार नजर आ रहा है। मटिया महल स्थित गली मदरसे वाली की सजावट देखते ही बन रही है। रमजान को लेकर दुकानदारों ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं। कपड़ों की दुकानों से लेकर खजूर बेचने वालों ने रमजान के लिए सामान मंगाकर रख लिया है। बाजार में सेवइयों के लिए फैनी बेचने वालों ने अपने काउंटर सजा लिए हैं। बाजार में खरीदारी के लिए लोग भी आने शुरू गए हैं। ईद को लेकर खरीदारी करने वाले लोगों का कहना है कि रमजान के मौके पर बाजार में उत्पाद काफी महंगे हो जाते हैं। दुकानदार उत्पादों के मनमाने रुपये वसूलते हैं।

मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार

पहाड़ी इमली निवासी आतिफा का कहना है कि मुस्लिम समुदाय का सालभर का यह सबसे बड़ा त्योहार होता है जिसको लेकर लोगों में काफी उत्साह होता है। खासतौर पर छोटे बच्चों में नए कपड़े पहनने का ज्यादा शौक होता है। बाजार में कपड़ों की बिक्री शुरू हो गई है। इससे पहले कि कपड़े महंगे हो जाएं इसलिए अभी से खरीदारी कर रही हूं। वहीं, मटिया महल के दुकानदारों का कहना है कि रमजान से एक-दो दिन पहले पूरा बाजार अच्छे से सजकर तैयार हो जाएगा। ईद को लेकर बाजार में ग्राहक आने शुरू हो गए हैं। 

यह भी पढ़ें: एडवेंचर टूर के साथ नए स्थानों की तलाश में दिल्लीवासी, हिल स्टेशन हैं पहली पसंद

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस