नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Mahesh Alias Bhoot:  पश्चिमी दिल्ली के द्वारका इलाके में नवरात्र के पहले दिन मंदिर में तोड़फोड़  के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है।  इस मामले में गिरफ्तार महेश उर्फ 'भूत' ने खुलासा किया है कि वह  दिल्ली में लगातार बढ़ रही गर्मी और तापमान में उतार चढ़ाव से हनुमान जी से नाराज था। उसके कहना है कि हनुमान जी बारिश नहीं करा रहे थे, इसलिए गुस्से में आकर उसने मंदिर में कुल्हाड़ी से तोड़फोड़ की। वहीं, महेश को लेकर एक बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि उसका एक वीडियो भी हाथ लगा है, जिसमें वह नग्न होकर नाच रहा था। ऐसे में माना जा रहा है कि महेश मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं है, वहीं दिल्ली पुलिस महेश के मानसिक स्वास्थ्य की जांच की बात कह रही है। 

उधर, विनोद बंसल (राष्ट्रीय प्रवक्ता, विहिप) का कहना है कि पश्चिमी दिल्ली के ककरौला गांव में मंदिर में मूर्ति तोड़े जाने की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। लगातार दिल्ली में धर्म विशेष हमले बढ़े हैं। हिंदुओं के घर और उनकी बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं है। देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को खंडित कर दिया जाता है। इस मामले में भी पुलिस का रवैया ठीक नहीं रहा।

स्थानीय लोगों का आरोप है कि शिकायत के दो घंटे बाद पुलिस आईं। अब इस मामले में विक्षिप्त को पकड़कर उसे बलि का बकरा बनाने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में गृह मंत्री अमित शाह व उपराज्यपाल अनिल बैजल से हस्तक्षेप का आग्रह है। मुख्य आरोपित और षड्यंत्रकर्ता जल्द पकड़े जाएं अन्यथा हिंदू समाज सड़क पर उतरने को मजबूर होगा। 

Indian Railway News: अगले 3 दिन में चलेंगी कई अनारक्षित ट्रेनें, दिल्ली-एनसीआर के लोगों को मिली बड़ी राहत

उधर, मंदिर में हुई तोड़फोड़ के बाद दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद ली और फ 50 साल के आरोपी महेश उर्फ 'भूत' को गिरफ्तार कर लिय। पता चला है कि महेश मोची है  और भरत विहार जेजे कॉलोनी का रहने वाला है। पुलिस ने वह कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली है, जो उसने तोड़फोड़ में इस्तेमाल की थी। पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है।

ये भी पढ़ेंः बाबा साहेब डिजिटल कला महोत्सवः आप भी घर बैठे आसानी से जीत सकते हैं 75 हजार रुपये इनाम, जानिए तरीका

Kisan Andolan: हकीकत के करीब आया संयुक्त किसान मोर्चा, जानिये- क्यों आम लोगों से मांगी माफी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप